राजनीति में कब कौन किसका सगा और किसका दुश्मन हो जाए पता नहीं होता. पार्टी आलाकमान को भी प्रदेश कार्यकरणी में सांमजस्य बिठाने का एक बड़ा सिर दर्द रहता है. ये तकलीफ हर एक पार्टी की है. उदाहरण के तौर पर आप राजस्थान में भाजपा को ही ले लीजिए. राजस्थान विधानसभा चुनावों में भाजपा को हार मिली. जबकि वहां के स्थानीय लोगों का कहना था कि यहां की जनता बीजेपी से नाराज नहीं है लेकिन सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया से नाराज है.

Tags:
COMMENT