इसरो ने इस साल  पूरी दुनिया को अपने  काबिलियत और होनहार का लोहा मनाया. आईए जानते हैं 2019 में इसरो ने अंतरिक्ष की दुनिया में भारत के लिए क्या नया किया.

* कलामसैट :- कलाम सेट एक विश्व का सबसे हल्का और लघु कृत्रिम उपग्रह है, जिसका नामांकरण भारतीय पूर्व राष्ट्रपति व वैज्ञानिक एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर किया गया है.इसरो का यह सैटेलाइट  स्पेस किड्ज इंडिया के छात्रों द्वारा बनाया गया. यह विश्व का पहला 3 डी प्रिंटर से तैयार उपग्रह भी है. इस उपग्रह का वजन 64 ग्राम है. इस उपग्रह में स्वदेशी आठ सेंसर लगाए गए है, जो पृथ्वी के वेग, आवर्तन, चुम्बकीय क्षेत्र का मापन करेंगे.  इस सैटलाइट को  श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर के पहले लौन्च पैड से  PSLV-C44 के 46वीं उड़ान से  (24 जनवरी, 2019 ) को लॉन्च किया.  'इस प्रक्षेपण के साथ भारत सूक्ष्म-गुरुत्वाकर्षण प्रयोगों (micro-gravity experiments) के लिए एक कक्षीय मंच के रूप में अंतरिक्ष रॉकेट के चौथे चरण का उपयोग करने वाला पहला देश बन गया है।'

Tags:
COMMENT