झारखंड में भाजपा के बारीडीह मंडल के आईटी सहसंयोजक कुमार विश्वजीत के 26 वर्षीय बेटे आशीष ने 16 अगस्त को अपने घर के पंखे से लटक कर जान दे दी. आशीष को डर था कि औटो सैक्टर में आने वाली भारी मंदी के चलते उस की नौकरी चली जाएगी और उस के घर का खर्च चलना मुश्किल हो जाएगा. आशीष टाटा मोटर्स के लिए जौबवर्क करने वाली कंपनी औटोमेटिक एक्सेल में काम कर रहा था.

आशीष के पिता कुमार विश्वजीत भी जौब इनसिक्योरिटी से ग्रस्त हैं. भारतीय जनता पार्टी के सदस्य होने के साथ ही वे टाटा स्टील के लिए कौंटै्रक्ट पर काम करते हैं. उन का कहना है कि उन की कंपनी टिस्को में भी कठिन ट्रेनिंग के बाद कर्मचारियों का टैस्ट लिया जा रहा था. ज्यादातर कर्मचारियों को डर था कि अगर वे टैस्ट में फेल हुए, तो अगले दिन उन का गेटपास तक नहीं बनेगा.

कुमार विश्वजीत कई दिनों से अपनी नौकरी को ले कर चिंतित थे और कुछ दिनों पहले ही आशीष से इस बारे में बातचीत भी हुई थी कि अगर उन की नौकरी चली जाएगी तो घर का खर्चा कैसे चलेगा. तब आशीष ने बताया था कि उस की नौकरी पर भी खतरा मंडरा रहा है. जौब इनसिक्योरिटी ने आखिरकार आशीष की जान ले ली. बारबार नौकरी खोने से उसे जान खोना ज्यादा आसान लगा. उस की पत्नी सदमे में है. अभी एक साल पहले ही जून 2018 में दोनों ने प्रेमविवाह किया था.

ये भी पढ़ें- विसर्जन हादसा: ये खुद जिम्मेदार हैं अपनी मौत के या फिर भगवान

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT