उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के लिये ‘युवा महोत्सव’ का महत्व ‘लखनऊ महोत्सव‘ से अधिक है. इस कारण युवा महोत्सव के लिये 45 साल पुराने लखनऊ महोत्सव को स्थगित कर दिया गया है. योगी सरकार के लिये युवा महोत्सव का प्रभाव इसलिये अधिक है क्योकि यह स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन 12 जनवरी से 16 जनवरी के आयोजित हो रहा है. योगी सरकार के लिये यह हिन्दुत्व और वोटबैंक से जुड़ा मुद्दा है.

Tags:
COMMENT