अल्जाइमर रोग एक ऐसा अपरिवर्तनीय विकार है जिसमें दिमाग धीरे धीरे याददाश्त खोने लगता है और अंत में सामान्य कार्य करने की मूल क्षमता भी प्रभावित हो जाती है. यह समस्या 65 साल की उम्र में ज्यादा देखने को मिलती है और यह बीमारी हरेक पांच साल बाद दोगुनी हो जाती है.

यह रोग कैसे प्रभावित करता है? और इसमें आहार की क्या भूमिका है. इस बारे में बता रहीं हैं, पोषण विषेशज्ञ, आहार विषेशज्ञ एवं फिटनेस विषेशज्ञ मनीशा चोपड़ा.

• शुरू में, इससे न्यूराॅन और उनके संपर्क नष्ट हो जाते हैं जो स्मृति से जुड़े होते हैं. इसके बाद, बाद के चरण में यह समस्या भाषाई और सामाजिक व्यवहार को प्रभावित करती है.

ये भी पढ़ें- तन की दुर्गंध से निबटने का ये है नैचुरल तरीका

• आपको शुरू से ही उचित आहार लेना चाहिए जिससे कि आप इससे बचे रह सकें और जितना संभव हो इसे टाल सकें.

• यदि आप सामान्य उम्र से संबंधित याददाश्त नुकसान का पता लगाने में सफल रहते हैं या आप अपने दिमाग को स्वस्थ बनाए रखना चाहते हैं तो जितना संभव हो आपको स्वस्थ दिमाग के लिए कुछ आहार पर ध्यान देना चाहिए.

• आपको व्यायाम और माइंड गेम्स पर ध्यान देना चाहिए जिससे कि आपका दिमाग सक्रिय बना रहे और सेल्स ठीक से काम करते रहें.

ये भी पढ़ें- बारिश के मौसम में ऐसा होना चाहिए खानपान

अपनी जिंदगी में शुरू से ही कौन से भोजन शामिल करने चाहिए?

  1. उच्च गुणवत्ता के प्रोटीनः इसमें फिश ओमेगा, स्किनलेस व्हाइट मीट, चिकन, एग व्हाइट और कम फैट वाले डेयरी प्रोडक्ट्स शामिल हैं.
  2. सब्जियांः पत्तेदार गोभी, बीन्स, पालक, ब्रोकोली, कोलार्ड और अन्य हरी पत्तेदार सब्जियां. आपको सप्ताह में 5 से 6 बार इनका सेवन करना चाहिए क्योंकि ये बेहद जरूरी हैं. स्ट्राबेरी और ब्लूबेरीज का भी सेवन करना चाहिए.
  3. नट्स, सीड्स, एक्स्ट्रा-वर्जिन आॅयल, पीनट्स, वोकैडोजः नट्स दिमागी स्वास्थ्य के लिए अच्छा स्नैक्स हैं क्योंकि इनमें स्वस्थ फैट फाइबर और एंटीआॅक्सीडेंट शामिल होते हैं. एक मुट्ठी अखरोट हर किसी को दैनिक आधार पर अपने आहार में शामिल करने चाहिए.
  4. आपको व्हाइट ब्रेड, सैचुरेटेड फैट, फ्रायड फूड, ड्रायड फूड्स जैसे पोटेटो चिप्स, केक्स, म्यूफिन, हाई फ्रक्टोज सीरप आदि का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए. चीनी हमारे दिमाग के लिए बेहद खराब फूड है. आप चीनी से दूरी बना सकते हैं क्योंकि दिमाग आपके शरीर में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण अंग है. दिमाग पर चीनी का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. इससे आपकी मेमोरी, मूड प्रभावित होते हैं और अल्जाइमर रोग की चपेट में आने का खतरा बढ़ता है.
  5. आहार में सेब, केला, संतरा और अन्य फलों को भी शामिल किया जाना चाहिए.
  6. बी-12 जैसे विटामिन, ओमेगा-3, फैटी एसिड (ग्रीन टी, जिन्कगो बिलोबा जैसे हर्बल सप्लीमेंट समेत) , अधिक एंटीआॅक्सीडेंट मात्रा वाले भोजन को नियमित आधार पर सेवन करना चाहिए.
  7. यह माना गया है कि कुछ खास विटामिन, फैटी एसिड याददाश्त  नुकसान यानी भूलने की समस्या को घटा सकते हैं.इस रोग में आहार का योगदान बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि कमजोर आहार से याददाश्त  प्रभावित होती है और इससे अल्जाइमर पैदा होने की आशंका बढ़ जाती है.

    अच्छा, स्वस्थ, पोषण-युक्त भोजन और लाइफस्टाइल एक स्वस्थ जीवनशैली को बढ़ावा देने के महत्पूर्ण हिस्सा हैं. अल्जाइमर का रोग तब होता  जब दिमाग की कोशिकाओं में और उसके आसपास प्रोटीन का स्तर असामान्य हो जाए, भले ही आप याददाश्त नुकसान से जूझ रहे हों या इसकी शुरुआत होने की आशंका महसूस कर रहे हों

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...