एक लंबे अरसे से खेती के काम में रोगों, कीड़ों व खरपतवारों से निबटने के लिए खतरनाक रासायनिक दवाओं का इस्तेमाल किया जा रहा है. यह जानते हुए भी कि ये दवाएं नुकसानदायक हैं, इन का इस्तेमाल थम नहीं रहा है. आखिर क्या है, इस कहर से बचने का तरीका?

भारत का पूरा रकबा 3287 लाख हेक्टेयर है, जिस के 43 फीसदी हिस्से में खेती होती है. खेती शुरू से आय का खास जरीया रही है. इस में रोजगार पैदा कर के, उद्योगों को बढ़ावा दे कर और खाने की चीजों को देश से बाहर भेज कर विदेशी पैसा कमाया जा सकता है. कैमिकल दवाओं से बढ़ रहे जहर की वजह से लाखों लोग हर साल कैंसर, दमा, एलर्जी, हार्टअटैक, माइग्रेन, हाई ब्लड प्रेशर, मधुमेह जैसी भयानक बीमारियों से मर जाते हैं, वहीं करोड़ों बच्चे विकलांगता व अंधेपन के शिकार हो रहे हैं. ऐसा नहीं है कि जहरीली दवाओं के जानलेवा खतरों से बचा नहीं जा सकता, लेकिन इस के लिए ठोस खेती की नीति बनाया जाना बहुत जरूरी है.

Tags:
COMMENT