लेखक- डा. सुबोध कुमार शर्मा     

एक्वापोनिक्स तकनीक कुछ विशेष स्थितियों में खासकर जहां भूमि और पानी सीमित है, में अधिक उत्पादन और आर्थिक रूप से प्रभावी सिद्ध हो सकती है. बड़ी संख्या में सब्जियां और उद्यानिकी फसलें जैसे चुकंदर, मूली, आलू, गोभी, ब्रोकली, सलाद, लेट्यूस, टमाटर, बैगन, मिर्च, खीरा, फल और मौसमी फूल सफलतापूर्वक उगाए जा सकते हैं. एक्वापोनिक्स में मिट्टी के बजाय दूसरे स्रोतों का उपयोग किया जाता है जैसे कि बजरी, रेत, कोकोपीट, रौक, ऊनी नमदा, वर्मीक्यूलाइट, नारियल फाइबर, यहां तक कि सिंडर ब्लौक और स्टायरोफोम आदि.

Tags:
COMMENT