आदित्य और प्रियंका की मंगनी हो गई थी. विवाह की तैयारी चल रही थी. आदित्य पंडित के कहेनुसार रात में धूमधाम से विवाह करना चाहता था, जबकि प्रियंका को यह फुजूलखर्ची लगती थी. पर आदित्य के अनुसार, जब तक जगमग न हो, तो विवाह में मजा ही नहीं आता है.

वहीं दूसरी ओर रोसा और जय दोनों ही विवाह के बाद अपना फ्लैट खरीदना चाहते थे. दोनों ने सम झदारी का परिचय देते हुए अपना विवाह दिन में करना निश्चित किया. दोनों के मातापिता उन के इस निर्णय से सहमत नहीं थे. पर जब उन्होंने अपने मातापिता को यह सम झाया कि वे जो रुपए उन के विवाह में खर्च करना चाहते हैं, उसी रुपए से वे बहुत धूमधाम से विवाह भी कर लेंगे और जो धन बचेगा उस से डाउन पेमैंट कर के अपना घर लेने का सपना भी पूरा कर सकते हैं, तो उन लोगों को उन की बात सही लगी.

चारु के पापा ने चारु की शादी दिन में आयोजित करनी चाही पर चारु को दिन में विवाह करना बहुत आउटडेटेड लगा और फिर रात्रि में विवाह का आयोजन हुआ. लाइट, आतिशबाजी, मेहमानों को ठहराने के लिए होटल का इंतजाम, रात्रि के हिसाब से दुलहन की पोशाक, मेकअप और बैंडबाजा, कुल मिला कर चारु के पापा की जेब पर रात्रि का विवाह बहुत भारी पड़ा. इतना कुछ करने के बावजूद रिश्तेदारों के मुंह फूले ही रहे, इंतजाम उन के मनमाफिक न थे.

Ratri-mein-Vivah

ये भी पढ़ें- पुलिस या अदालत में जब बयान देने जाएं!

धन और वैभव का दिखावा

आजकल अधिकतर विवाहों का आयोजन रात में ही होता है क्योंकि विवाह महज अपने धन और वैभव का दिखावा बन कर रह गए हैं. प्राचीनकाल में विवाह एक रस्म, एक परंपरा थी मानव समाज को सभ्य बनाने के लिए, घरपरिवार को आगे बढ़ाने के लिए. पर जैसेजैसे समाज का आधुनिकीकरण हुआ और नएनए इलैक्ट्रौनिक उपकरणों का बाजार में आगमन हुआ वैसेवैसे लोगों में दिखावे की होड़ लगती गई. सो, रात्रि में विवाह की परंपरा कब और कैसे आरंभ हुई थी, एक नजर डालते हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...