पुरुषप्रधान समाज की गूंज के बीच धरती पर एक इलाका ऐसा भी है जहां स्त्रीप्रधान समाज है. धरती का वह इलाका कहीं और नहीं, बल्कि भारत में है. देश के पूर्वोत्तर राज्यों में से एक मेघालय में मातृसत्तात्मक समाज का रिवाज कायम है. ऐसा वहां की जनजातियों का नियम है.

मेघालय के अलावा देश के दूसरे सभी राज्यों में सामाजिक ढांचा पिताप्रधान है. आमतौर पर दुनियाभर के समाज पितृसत्तात्मक और पुरुषप्रधान होते हैं. मेघालय में खासी समाज की महिलाओं को जो सामाजिक अधिकार मिले हुए हैं, वैसे अधिकार देश के किसी दूसरे राज्य या समुदाय की महिलाओं को हासिल नहीं हैं. यह भी जान लें कि इस राज्य की प्राकृतिक सुंदरता विश्वव्यापी है.

Tags:
COMMENT