हरनाज कौर संधू ने मिस यूनिवर्स के ताज पर कब्जा कर के विश्व में अपनी खूबसूरती और सूझबूझ के झंडे गाड़ दिए हैं. यह हमारे लिए खुशी की बात है, लेकिन हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि इस चुनाव के पीछे आयोजकों का भारत सहित समूचे एशियाई देशों पर व्यापारिक और कूटनीतिक नजरिया भी रहता है.

भारत ने सौंदर्य के पैमाने पर देश- दुनिया को चौंका दिया है. तभी तो रीता फारिया से ले कर सुष्मिता, ऐश्वर्या, प्रियंका, युक्ता, लारा और हरनाज तक देश में 6 मिस वर्ल्ड और 3 मिस यूनिवर्स चुनी जा चुकी हैं. सौंदर्य प्रतियोगिता और प्रतिस्पर्धा में कौन कितना और किस स्तर पर सुंदर है? इसे ले कर बनाए गए पैमाने में भारतीय सुंदरता एक बार फिर अगली पंक्ति में आ चुकी है.

हरनाज कौर संधू मिस यूनिवर्स का खिताब जीतने वाली तीसरी भारतीय हैं. इन से पहले ठीक 21 साल पहले जब 2000 में लारा दत्ता सुष्मिता सेन के बाद मिस यूनिवर्स चुनी गई थीं, तब उसी साल हरनाज कौर सिंधू का जन्म हुआ था.

बचपन से ले कर किशोरावस्था तक आतेआते उन्हें अपनी सुंदरता का एहसास होने लगा था. स्कूल से कालेज के दिनों तक वह सुष्मिता सेन, ऐश्वर्या राय, प्रियंका चोपड़ा, लारा दत्ता, युक्ता मुखी से ले कर मानुषी तक की सुंदरियों की कायल बन चुकी थीं. उन के ग्लैमर और सेलीब्रेटीपन से काफी हद तक प्रभावित हो गई थीं

ये भी पढ़ें- बचत: बढ़ती उम्र में खुद को रखें आर्थिक रूप से मजबूत

यही विशेष कारण रहा कि वह मौडलिंग और सिनेमा के परदे तक खिंचती चली गईं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...