घरेलू हिंसा के मामले पहले भी बड़ी संख्या में सामने आते रहे हैं लेकिन लौकडाउन के दौरान ये लगातार बढ़े हैं. आखिर इन औरतों की गलती क्या है जो अपने ही परिवार के बीच यह सुरक्षित नहीं हैं?

नैशनल कमीशन फौर वुमेन के नए डाटा के अनुसार, कोरोना वायरस लौकडाउन के चलते 22 मार्च से 16 अप्रैल के बीच घरेलू हिंसा की 587 शिकायतें प्राप्त की गईं जबकि यह संख्या 27 फरवरी से 22 मार्च के बीच केवल 396 थी.

Tags:
COMMENT