पिछले 11 माह में भारत ने चीन से 62 अरब डालर का सामान आयात किया है. चीनी सामान के बहिष्कार से भारतीय कारोबारियो को ही नुकसान होगा. चीन को इस बहिष्कार से तत्काल नुकसान नहीं होगा. चीन ने अपने नुकसान का अंदाजा लगाकर ही सीमा विवाद का फैसला किया होगा. भारत न तो सीमा पर तैयार था ना ही उसने कोई कारोबारी तैयारी की है.देष में सस्ता सामान न मिलने से उससे जुडे तमाम कारोबार प्रभावित होगे. जिससे देष में फैली बेकारी और बर्बादी के और बढने अनुमान लगाया जा सकता है.

Tags:
COMMENT