पैट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच सरकार ने जनता को नई सौगात तब दी है जब देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 6 लाख के करीब है और हजारों लोगों की मौतें हो चुकी हैं.

इस समय जहां पूरे देश में लौकडाउन की सी स्थिति है, करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं, लोगों को रूपएपैसों की सख्त जरूरत है, मगर सरकार ने लोगों को राहत देने की बजाए उन की जेबें काटने का नया फरमान जारी कर दिया है.

आप को याद होगा कि जब देश कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आया था तब एटीएम से पैसे निकालने के नियमों में कुछ बदलाव किए गए थे.

ये भी पढ़ें-सुशांत सिंह राजपूत की मौत का यूं उत्सव मनाना संवेदनाओं की मौत होना है

इन नियमों के तहत कोई भी किसी भी एटीएम से चाहे जितनी बार पैसे निकाल सकता था और उसे कोई चार्ज भी नहीं लगता था, मगर अब   नए नियमों के तहत ऐसा नहीं होगा.

केंद्र सरकार ने मार्च महीने में कोरोना वायरस के चलते किसी भी एटीएम से पैसे निकालने की छूट दी थी, जो 3 महीनों के लिए थी, जिस की मियाद 30 जून को खत्म हो गई है.

लेकिन अब 30 जून के बाद यानी 1 जुलाई से यह राहत खत्म हो गई है और नियमों के मुताबिक दूसरे बैंकों के एटीएम से कुछ चुनिंदा ट्रांजैक्शन करने की ही इजाजत होगी.

ये भी पढ़ें-दिल्ली में शुरू हुआ सीरोलाजिकल सर्वे, जानें क्या है ये?

नए नियम क्या हैं

यों तो हर बैंक के एटीएम से पैसे निकासी को ले कर अलग अलग नियम हैं. फिर भी अगर भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम के नियमों को देखें तो मैट्रो शहरों में 8 फ्री कैश विद्ड्रावल की इजाजत होती है. इस में 5 ट्रांजैक्शन भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम से की जा सकती है, जबकि 3 ट्रांजैक्शन अन्य किसी बैंक के एटीएम से कर सकते हैं. 8 ट्रांजैक्शन के बाद ग्राहक जितनी भी ट्रांजैक्शन करता है, उस पर अतिरिक्त चार्ज लगता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT