लेखक- रोहित और शाहनवाज 

विरोधों को रोकने का जरिया लगातार हर साल यह ट्रैंड देखने में आ रहा है कि मोदी सरकार के खिलाफ बढ़ते विरोध को देख सरकार द्वारा इंटरनैट शटडाउन को अधिकाधिक इस्तेमाल किया जा रहा है. खुद आंकड़े गवाही देते हैं. किसानों की ट्रैक्टर परेड के बाद किसान आंदोलन की दिशा जानने के लिए हम लगातार दिल्ली के अलगअलग बौर्डरों पर जाते रहे. इस में शक नहीं कि कई उठापटकों की संभावनाओं के बाद किसानों के आंदोलन ने पहले से अधिक जोर पकड़ लिया है. यह आंदोलन अब पंजाब, हरियाणा से होते हुए उत्तर प्रदेश के गांवों तक पहुंच गया है. लेकिन जैसेजैसे इस आंदोलन ने जोर पकड़ा, वैसेवैसे धरने पर बैठे किसानों के बीच पहुंचना सरकार ने न सिर्फ दूरदराज से आ रहे किसानों के लिए मुश्किल बना दिया, बल्कि सहानुभूति रखने वाले आम लोगों व आंदोलन को कवर कर रहे पत्रकारों के लिए भी एक टास्क सा बना दिया है.

Tags:
COMMENT