इन दिनों देश के हर शहर में एक शाहीन बाग आकार ले रहा है भोपाल का इकवाल मैदान भी उनमें से एक है जहां कोई 5 हजार लोग जिनमें महिलाएं ज्यादा हैं सीएए और एनआरसी के विरोध में डेरा डाले जमे हैं. 30 जनवरी को जेएनयू छात्र संघ की नेता आइशी घोष यहां लगभग गुपचुप तरीके से आ पहुंचीं तो इकवाल मैदान में डटे प्रदर्शनकारियों का जोश दोगुना हो गया क्योंकि आइशी के साथ और भी नामी समाज सेवी उनके समर्थन में आए थे.

Tags:
COMMENT