लाइफस्टाइल बदलने के साथ ही हम अपनी बौडी और स्किन का ख्याल नही रख पाते. जिसका असर हमारी बौडी के साथ-साथ स्किन और हेयर पर भी पड़ता है. दरअसल, बिजी लाइफ में हम ज्यादा स्ट्रैस का शिकार हो जाते हैं, जिससे बाल अपना नेचुरल कलर व शाइन खोने लगते हैं. उम्र बढ़ने या तनाव में बालों का रंग सफेद होने लगता है. अगर आपके बाल भी उम्र से पहले ड्राई, सफेद और बेजान हो गए हैं तो इस खबर से आप जान पाएंगे बालों की इन प्रौब्लम का कारण…

  1. विटामिन और एनीमिया की कमी है बाल सफेद होने का कारण

बौडी में विटामिन बी 12 की कमी के कारण परनीशियस एनीमिया होने की आशंका रहती है, जिससे बाल सफेद होने लगते हैं. एनीमिया के कारण शरीर के विभिन्न अंगों तक औक्सीजन का प्रवाह कम हो जाता है. इस वजह से भी बाल सफेद हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें- क्या आप भी उंगली से लिप बाम लगाते हैं?

  1. बौडी में जि़ंक की कमी भी है बाल ड्राई और सफेद होने का कारण

हड्डियों, स्किन व स्कैल्प को हेल्दी रखने के लिए संतुलित न्यूट्रिशनल आहार लेना बहुत ज़रूरी होता है. खाने में जि़ंक की कमी होने से बाल असमय सफेद होने लगते हैं.

  1. थायरौयड डिसौर्डर से होती है बालों की शाइन कम

थायरौयड डिसौर्डर, हाइपोथायरौयडिज्म व हाइपरथायरौयडिज्म के कारण भी बालों की रंगत हल्की होने लगती है.

  1. स्कैल्प में फंगल इन्फैक्शन भी है बालों के लिए खतरा

स्कैल्प में इस तरह के इन्फैक्शन से बाल समय से पहले सफेद होने लगते हैं. इससे बचने के लिए ज़रूरी है कि सफाई का खास ख्याल रखा जाए.

यह भी पढ़ें- चेहरे पर क्यों स्क्रबिंग है जरूरी, जानें यहां

  1. तनाव और हौर्मोनल डिसबैलेंस से पड़ता है बालों पर फर्क

जो लोग जिंदगी के किसी मुश्किल दौर से गुज़र रहे हों या काम का बोझ अधिक हो, उनके बाल भी असमय सफेद होने लगते हैं. हॉर्मोन में हो रहे बदलाव का असर त्वचा व बालों पर ज़रूर पड़ता है.

Tags:
COMMENT