प्रोटीन हमारे शरीर की मांसपेशियों के निर्माण के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है. यह न सिर्फ मांसपेशियों का निर्माण करता है बल्कि आपको फिट रखने का भी काम करता है. यह ग्लाइकोजन के स्तर को मैंटेन रखकर शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है. प्रोटीन का मुख्य कार्य शरीर की आधारभूत संरचना की स्थापना एवं एंजाइम के रूप में शरीर की जैव रासायनिक क्रियाओं का संचालन करना होता है. आपको बता दें कि अगर आप 1 ग्राम प्रोटीन लेते हैं तो उससे आप के शरीर को 4.1 कैलोरी प्राप्त होती है.

लेकिन किसी भी फिटनेस एंथोसिएस्ट को सिर्फ यही जानना जरूरी नहीं है बल्कि उन्हें प्रोटीन के 8 महत्वपूर्ण तत्वों से भी वाकिफ होना जरूरी है ताकि वे बौडी भी बना पाए और खुद को फिट भी रख सकें.

तो आइए, इस संबंध में हम हरीश कुमार शर्मा  से जानते हैं, जो इक्विलिब्रियम प्रो. जिम (फरीदाबाद स्थित एशियन हौस्पिटल) में हैल्थ एंड फिटनेस कंसलटेंट हैं.

ये भी पढ़ें- मुंह के छालों से राहत पाने के लिए अपनाएं ये 4 टिप्स

  1. एक सामान्य स्वस्थ व्यक्ति को अपने शरीर के प्रति किलोग्राम का 1.2 से  1.5 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए. मतलब अगर व्यक्ति का वजन 50 किलोग्राम है तो उसे 150 ग्राम प्रोटीन प्रतिदिन अपने पूरे दिन की डाइट में लेना चाहिए और एक खिलाड़ी या कसरत करने वाले  व्यक्ति को 1.5 ग्राम से लेकर 2 ग्राम प्रति किलोग्राम शरीर के भार के हिसाब से लेना चाहिए. यदि घर के खाने से यह प्रोटीन प्राप्त हो जाता है तो अतिरिक्त प्रोटीन की आवशयकता नहीं होती है.

2. यदि आप का  उद्देश्य मांसपेशियों को सुडोल और साइज बढ़ाना है तो प्रोटीन की अपने शरीर के भार के अनुसार मात्रा को 5 -6  बार के खाने में लें.  इससे शरीर को बराबर अनुपात में प्रोटीन मिल पाता है.

3.  यदि आप कम्पीटिशन लेवल के हिसाब से एक्सरसाइज करते हैं तो आप फैट फ्री मास यानी शरीर के कुल वजन का वसा के बिना जो भार है , उसका 2 से 2.5 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए, जिससे निरंतर जिम करने से मसल्स की मांसपेशियों का आकार समान बना रहेगा.

4. कुछ लोगों का मानना  है कि ज्यादा प्रोटीन लेने से किडनी पर गलत प्रभाव पड़ता है. जबकि हमारे लिए ये जान लेना जरूरी है कि यदि आप का व्यायाम करने का स्तर अधिक है तो मात्रा के अनुसार प्रोटीन किडनी और किसी भी अंग पर असर नहीं करेगा.

5.  पेशेवर एथलीट और बौडी बिल्डर्स यदि प्रचुर मात्रा में प्रोटीन लेते हैं तो उनका मूड अच्छा रहता है.  इससे अतिरिक्त वसा को भी कम करने में मदद मिलती है.

6. प्रोटीन वे खनिज हैं, जो शरीर के विकास तथा उसके रखरखाव के लिए आवश्यक है.  प्रोटीन शरीर में जाकर अमीनो एसिड बन जाता है.  प्रोटीन का निर्धारित मात्रा में सेवन से न केवल मांसपेशियों बल्कि त्वचा , बाल, नाख़ून भी स्वस्थ रहते हैं.

ये भी पढ़ें- मौनसून में कौन सी डाइट है राइट, जानें यहां

7.  कुछ लोग सोचते हैं कि प्रोटीन की मात्रा केवल मांसाहारी भोजन में होती है जबकि एक सम्पूर्ण शाकाहारी व्यक्ति भी अपने आहार से प्रतिदिन प्रोटीन की मात्रा की पूर्ति कर सकता है.

8. मांसपेशियों को बनाने के लिए न सिर्फ प्रोटीन की जरुरत होती है बल्कि एक संतुलित आहार की जरूरत होती है, जिसमे प्रोटीन की मात्रा सबसे अधिक होती है.  उचित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स , फैट्स, , मिनरल्स , विटामिन्स और पानी की भी मात्रा आवश्यक है.

Tags:
COMMENT