डॉक्टर्स और रिसर्चकर्ता कोरोना के सटीक लक्षणों को समझ पाने में लगातार धोखा खा रहे हैं. कोरोना अपने लक्षणों में दिन-ब-दिन नए नए पैंतरे दिखा रहा है. कहीं वह नाड़ियों में खून के थक्के जमा रहा है, कहीं किडनी और हार्ट पर अटैक कर रहा है तो कभी श्वसन की कार्यप्रणाली को नष्ट कर इंसान की जान ले रहा है. कभी कभी तो वह बिना लक्षणों के ही प्रकट हो रहा है. अब लखनऊ में पीजीआई में डॉक्टरों ने पाया है कि कोरोना डेंगू बुखार की तरह लक्षण प्रकट कर रहा है और सीधे प्लेटलेट्स पर हमलावार है.

आम तौर पर डेंगू बुखार में प्लेटलेट्स काउंट कम होते थे, लेकिन अब कोरोना भी डेंगू के वेश में मरीजों पर वार कर रहा है. इसमें अचानक मरीज की प्लेटलेट्स काउंट गिरकर 20 हजार से भी नीचे आ जा रही है. जबकि खून की जांच में डेंगू नहीं निकल रहा है. ऐसे मरीज ज्यादातर कोरोना की गंभीर अवस्था में पहुंचने के बाद मिल रहे हैं. पीजीआई में डॉक्टरों ने इस पर शोध शुरू किया है.

ये भी पढ़ें- Nutrition Special: न्यूट्रिशन से भरपूर है दही, जानें इसके फायदे

पीजीआई के प्रफेसर अनुपम वर्मा कहते हैं कि अचानक मरीजों में प्लेटलेट्स काउंट गिरने से मैनेज करना मुश्किल हो रहा है. पीजीआई में एडमिट लोकबंधु अस्पताल के डॉक्टर की प्लेटलेट्स भर्ती होने के दूसरे दिन ही दस हजार पहुंच गई. प्राथमिक तौर पर यह सामने आ रहा है कि कोरोना मरीज के इम्यून कॉम्प्लेक्स को प्रभावित करता है, जिसमें मोनोसाइड और मैकरोफेज सेल पर अटैक होता. इससे बॉडी में प्लेटलेट्स की खपत बढ़ जाती है. जबकि उनका उत्पादन पहले के मुकाबले कम रहता है. यही कारण है कि प्लेटलेट्स काउंट अचानक से गिर जाता है. ऐसे मरीज ज्यादातर गंभीर अवस्था के होते हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT