भागम भाग के इस दौर में आज हर कोई तनाव से ग्रस्त है, बहुत कम लोग ही है. जिन्होंने तनाव का सामना नहीं किया है. बड़े की तो बात छोड़िये आज के इस दौर में छोटे-छोटे बच्चे भी तनावग्रस्त रहने लगे है. तनाव एक ऐसी समस्या है जो व्यक्ति को अंदर ही अंदर खोखला बना देता है. जब इसकी अति हो जाती है तो यह एक गंभीर रोग बन जाता है. तनाव से  हर कोई स्त है. कुछ लोग तनाव को बेवजह पालते हैं तो कुछ लोग व्यर्थ की चिंताओं में ग्रस्त होकर अपने वर्तमान और भविष्य को नष्ट करते हैं. इसके साथ ही तनाव अनेक रोगों और समस्याओं को जन्म देता है, जिसमें भूख न लगना, काम में मन न लगना, चिढ़चिढ़ापन, क्रोध, कब्ज आदि प्रमुख हैं.

Tags:
COMMENT