पूरा दिन हमारा शरीर, हमारा दिमाग भागा दौड़ी में गुजर जाता है और रात को जब हम अपने बिस्तर पर जाते हैं तो एक आरामदायक और सुकून भरी नींद की ही अपेक्षा करते हैं हम बिस्तर पर इस उम्मीद से लेटते हैं कि अब अपने शरीर को थोड़ा आराम दें, ताकि अगले दिन फिर नई ऊर्जा के साथ जीवन की भागदौड़ में जुट सकें. अगर हम अपने शरीर को रिलैक्स नहीं करेंगे तो हम मानसिक रूप से तनाव से भी पीड़ित हो सकते है इससे बचने के लिए जरूरी है अच्छे बिस्तर पर आरामदायक नींद लेना. हम अपनी जिंदगी का एक तिहाई हिस्सा सो कर गुजरते हैं इसलिए बहुत जरूरी है कि अपने बिस्तर को उतनी ही अहमियत दी जाए, जितनी खानपान और पहनावे को दी जाती है. थौमसन इंडिया के चीफ बिज़नेस आर्किटेक्ट यशवंत प्रताप सिंह जानकारी दे रहे है कैसा हो आपका मैट्रेस.

Tags:
COMMENT