आप को डैस्क जौब पसंद हो या नहीं, लेकिन एक जगह बैठ कर काम करना और डैस्क जौब आज हमारे जीवन का एक हिस्सा है. आज काफी संख्या में शहरी कामकाजी लोग अपने दिन का बड़ा हिस्सा कंप्यूटर के सामने मेज पर बैठ कर बिताते हैं. इतना ही नहीं, इस प्रकार की जीवनशैली के चलते शरीर का मूवमैंट कम होता है जिस के कारण मोटापा और दूसरी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. पीठदर्द, गरदनदर्द, फ्रोेजेन शोल्डर और हड्डी से जुड़ी दूसरी बीमारियों के कारण काफी संख्या में पुरुषों और महिलाओं को आर्थौपैडिक विशेषज्ञों के पास जाने के लिए मजबूर होना पड़ता है.

लंबे समय तक एक ही स्थिति में बैठने से शरीर में दर्द और मांसपेशियों व ऊतकों के रिपिटीटिव स्ट्रैस इंजुरीज सहित कई तरह की समस्याएं होने की आशंकाएं हो सकती हैं.

गरदन में जकड़न, कंधे का झुकना, फ्रोजेन शोल्डर्स से ले कर पीठ और कमर में तेज दर्द और उंगली में सुन्नपन जैसी समस्याओं की पूरी सूची है जो डैस्क कार्य करते हुए पैदा होती हैं. हालांकि आप को अपनी डैस्क से हर घंटे उठ कर बाहर जा कर चहलकदमी करना मुश्किल हो सकता है, लेकिन इस प्रकार के दबाव से निबटने व अपने शरीर को सक्षम बनाने के लिए आप कुछ छोटे कदम उठा सकते हैं.

ये भी पढ़ें- ज्यादा देर तक बैठने की आदत से हो सकती हैं आपको ये परेशानियां

आप सावधानीपूर्वक छोटे से प्रयास कर भी इस तरह की समस्याओं को काफी हद तक रोक सकते हैं. उदाहरण के तौर पर, हमेशा एलिवेटर के प्रयोग से बचें और सीढि़यों का इस्तेमाल करें.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT