लेखक-पिंटू मीणा पहाड़ी सहायक कृषि अधिकारी, सरमथुरा 

आज ज्यादातर किसान मचान और ३जी पद्धति को अपना रहे हैं. हमारे छोटेछोटे प्रयासों से वैज्ञानिक खेती को बढ़ावा मिलता है, तो दिल खुश हो जाता है. गरमियों में अगेती किस्म की बेल वाली सब्जियों को मचान विधि से लगा कर किसान अच्छी उपज पा सकते हैं. इन की नर्सरी तैयार कर के इन की खेती की जा सकती?है. पहले इन सब्जियों की पौध तैयार की जाती है और फिर खेत में जड़ों को बिना नुकसान पहुंचाए रोपण किया जाता है.

Tags:
COMMENT