कल तक फिल्मकारों की नजर में टीवी सीरियलों में अभिनय करने वाले कलाकार अछूत थे, पर अब यह दूरियां खत्म होती जा रही है. इन दिनों कई सफल टीवी कलाकार बौलीवुड में सक्रिय हैं. इसी के साथ अब एक नई बहस छिड़ गयी है कि टीवी सीरियल में अभिनय करने से कलाकार का विकास ठप्प हो जाता है. कई कलाकारों का मानना है कि टीवी में एक सीरियल जितने समय तक प्रसारित होता है, उतने समय तक कलाकार को एक ही तरह की वेशभूषा में एक ही तरह का किरदार निभाना पड़ता है. इससे उसके अंदर अभिनेता के तौर पर विकास नहीं हो पाता. कुछ कलाकार अब कहने लगे हैं कि जिन्हें सिर्फ पैसा कमाना है, वही टीवी पर काम करें.

ये भी पढ़ें- ‘हंसा-एक संयोग’ किन्नरों के दर्द व उनकी व्यथा का चित्रण करती है: सुरेश शर्मा

shravan-reddy-steps-out-in-wool-actor-hero

मगर कई टीवी सीरियलों में अभिनय करने के बाद 24 मई से ‘‘एमएक्स प्लेअयर्स’’ पर प्रसारित हो रही वेब सीरीज ‘थिंकिस्तान’ में मुंबई के चेंबूर इलाके में परवरिश पाने वाले हेमा का किरदार निभा रहे. अभिनेता श्रवण रेड्डी की राय कुछ अलग है. हमसे एक्सक्लूसिव बातचीत करते हुए श्रवण रेड्डी ने कहा- ‘‘मेरी राय में जो काम आपको पहचान दे, जो आपके घर का खर्च चलाए, वह नुकसान नहीं देता. पर यह हर कलाकार पर निर्भर करता है कि वह किस तरह का काम करना चाहता है.

ये भी पढ़ें- कोई किसी की डेस्टिनी बदल नहीं सकता: इनामुलहक

sharvan

टीवी सीरियल में जब तक सीरियल चलता रहेगा, कलाकार को एक ही तरह की पोशाक पहनकर उसी तरह की गाड़ियों में घूमना पडे़गा. मैं इस बात से भी इत्तफाक रखता हूं कि टीवी सीरियल में अभिनय करके आप पैसा कमा सकते हैं. शुरूआत के लिए तो टीवी ठीक है. पर उसके बाद यह हर कलाकार कि अपनी खुशी पर निर्भर करता है कि वह किस रूप में कहां खुश है?  एक सीरियल में अभिनय करने से इतनी पहचान बन जाती है कि आप चुनाव जीत जाएं, इतनी पहचान तो एक फिल्मस्टार को भी नही मिलती. पर इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि टीवी पर लंबे समय तक काम करने से क्रिएटीविटी को नुकसान होता हैं.’’

ये भी पढ़ें- नच बलिए सीजन 9: ये दिलकश जोड़ा बनेगा इस शो का हिस्सा

Tags:
COMMENT