बौल टेंपरिंग प्रकरण का पूरा मामला सामने आने के बाद से ही पूरा क्रिकेट जगत स्‍तब्‍ध है. बौल टेंपरिंग मामले में क्रिकेट औस्‍ट्रेलिया ने स्‍मिथ, वार्नर और बेनक्राफ्ट पर बड़ी कार्रवाई की है. स्मिथ और वार्नर पर जहां एक साल का बैन लगा है वहीं बौल टेंपरिंग करने वाले बेनक्राफ्ट पर नौ महीने के लिए कोई भी अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट और घरेलू क्रिकेट खेलने पर रोक लगा दी गई है.

जहां एक तरफ औस्‍ट्रेलिया के इन दिग्‍गज खिलाड़ियों की हरकत से पूरा क्रिकेट जगत शर्मसार होने पर मजबूर हो गया है तो वहीं दूसरी तरफ स्‍टीव स्मिथ को अपनी इस बड़ी गलती का अहसास हो गया है, उन्होंने इसके लिए माफी मांगी है और उनके बहते आंसुओं को देख खेल जगत भावुक भी हो चुका है.

इधर दक्षिण अफ्रीकी दौरे से स्‍वदेश लौटने के बाद एयरपोर्ट पर स्मिथ के प्रशंसको ने ‘चीट चीट’ कहकर हूटिंग की. उधर इस घटना के बाद स्मिथ, वार्नर और बेनक्राफ्ट ने प्रेस कान्‍फ्रेंस में अपनी गलती के लिए क्षमा मांगी. प्रेस वार्ता में स्मिथ इतने भावुक हो गये कि वो ठीक से अपनी बात भी नहीं रख पा रहे थे. लगभग पांच मिनट की प्रेस वार्ता में स्मिथ कई बार रोते देखे गये.

स्मिथ की बातों और उनके आंखो से निकले आंसुओं ने क्रिकेट जगत को भी भावुक कर दिया है. प्रेस कान्‍फ्रेंस के बाद टीम इंडिया में ‘हिटमैन’ के नाम से मशहूर रोहित शर्मा, औस्‍ट्रेलिया के पूर्व दिग्‍गज स्पिनर शेन वार्न और दक्षिण अफ्रीका के कप्‍तान फौफ डुप्‍लेसिस ने स्मिथ पर अपनी सहानुभूति जतायी है.

रोहित शर्मा ने कहा कि गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में दोषी पाए गये औस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और उनकी टीम के दो साथियों (डेविड वार्नर और कैमरन बेनक्राफ्ट) की पहचान इससे नहीं बननी चाहिए. उन्होंने कहा कि जोहान्सबर्ग हवाईअड्डे पर सुरक्षा घेरे में जिस तरह से उन्हें अंदर ले जाया गया और सिडनी में प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान जिस तरह से वह भावुक हुए वह उनके दिमाग में घूम रहा है.

इससे पहले दिग्गज लेग स्पिनर शेन वार्न ने भी फैसले की आलोचना करते हुए ट्वीट किया, यह शर्मनाक है!स्टीव स्मिथ आपराधी नहीं है. दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने कहा कि उन्हें लगता है कि औस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पर लगा 12 महीने का प्रतिबंध काफी ‘कड़ा’ है. उन्हें स्मिथ के लिये बहुत दुख है वह अभी जिस दौर से गुजर रहे हैं, मुझे उनके प्रति सहानुभूति है. उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि वह अच्छे खिलाड़ियों में से एक है और वह बस सिर्फ गलत जगह फंस गया.