सरिता विशेष

संजय दत्त की बायोपिक फिल्म ‘‘संजू’’ में मीडिया व पत्रकारों को जमकर कोसा गया है. संजय दत्त के गलत कारनामों के लिए भी पत्रकारों को ही कटघरें में खड़ा किया गया है. इतना ही नहीं फिल्म के अंत में मीडिया को गाली भी दी गयी है. वास्तव में यह फिल्म संजय दत्त की साफ सुथरी ईमेज बनाने व उनका महिमा मंडन करने वाली फिल्म है. फिल्म में जिस तरह से पत्रकारों को गालियां दी गयी है, उसे देखते हुए हर पत्रकार संजय दत्त से सवाल जरुर करना चाहेगा.

तो जैसे ही फिल्म ‘‘साहेब बीबी और गैंगस्टर’’का प्रमोशन शुरू हुआ और संजय दत्त मुंबई में एक स्टूडियो में इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकारों के सामने आए, वैसे ही पत्रकारों ने संजय दत्त से इस मसले पर सवाल कर ही दिया कि उनकी गलतियों को छिपाने के लिए फिल्म ‘संजू’ में मीडिया व पत्रकारों को गलत क्यों बताया गया. पत्रकारों को गाली क्यों दी गयी? सूत्र बताते है कि पहले तो संजय दत्त ने खुद को बचाते हुए चुप रहने का ही प्रयास किया पर ज्यादा सवाल किए जाने पर संजय दत्त ने कहा कि इसके लिए उन्हें दोष नहीं दिया जाना चाहए. क्योंकि फिल्म की पटकथा में मीडिया के खिलाफ कोई भी दृष्य उन्होंने नहीं लिखा है.

सूत्र बताते हैं कि मगर जब हर चैनल से जुड़े पत्रकारों ने संजय दत्त से पत्रकारों की गलत तस्वीर पेश किए जाने पर सवाल करना शुरू किया, तो संजय दत्त अपना आपा खो बैठे और गुस्से में पत्रकारों के साथ अभद्रता के साथ पेश आते हुए कह दिया कि अब वह किसी भी पत्रकार को इंटरव्यू नहीं देंगे. इतना ही नहीं सूत्र बताते हैं कि संजय दत्त ने फिल्म ‘साहेब बीबी ओर गैंगस्टर’ की प्रचार टीम से कह दिया कि अब वह इस फिल्म का प्रमोशन/प्रचार नहीं करेंगे. जबकि फिल्म से जुड़े दूसरे कलाकार लगातार फिल्म के प्रचार में योगदान दे रहे हैं.

सूत्र बताते हैं कि जब फिल्म ‘‘साहेब बीबी और गैगस्टर’’ के निर्माता ने फिल्म को हो रहे नुकसान का हवाला देते हुए संजय दत्त से गुजारिश की कि वह पत्रकारों से मिलें और फिल्म को प्रचारित करें, तब संजय दत्त ने फिल्म के प्रचारक पर कई तरह के आरोप लगाए. संजय दत्त के करीबी सूत्रों का दावा है कि सारी गलती संजय दत्त की नहीं बल्कि प्रचारक की भी है. फिल्म के प्रचारक ने पत्रकारों का सही ढंग से चयन नहीं किया. कई वरिष्ठ पत्रकारों की अनदेखी की. बहरहाल, अब सूत्र बता रहे हैं कि संजय दत्त इस शर्त पर फिल्म के लिए पत्रकारों से बात करने के लिए रजामंद हुए है कि प्रचारक द्वारा सुझाए गए पत्रकारों के नामों पर उनकी अपनी टीम विचार कर तय करेगी कि किस पत्रकार से संजय दत्त बात करेंगे. फिर उन पत्रकारों को लखनउ बुलाकर फिल्म ‘‘प्रस्थानम’’ के सेट पर संजय दत्त इंटरव्यू देंगे.

अब देखना यह होगा कि फिल्म ‘‘प्रस्थानम’’ के सेट पर संजय दत्त पत्रकारों को फिल्म‘संजू’को लेकर उठे जिन सवालों पर अभी गुस्सा आया है, उन सवालों का जवाब क्या देंगे या फिर उनका गुस्सा ही सामने आएगा?