इस वर्ल्ड कप का दूसरा मैच पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच 31 मई को खेला गया. ट्रेंट ब्रिज के मैदान पर वेस्टइंडीज ने टौस जीत कर पाकिस्तान को पहले बल्लेबाजी करने का न्यौता दिया और जिस रणनीति के तहत यह फैसला लिया गया था, वह जल्दी ही कामयाब होती भी दिखाई दी.

पाकिस्तान के बल्लेबाज 'तू चल मैं आया' की तर्ज पर क्रीज से ज्यादा पवेलियन में दिखे. वर्ल्ड कप में इतनी शर्मनाक शुरुआत तो पूरे पाकिस्तान में किसी ने सपने में भी नहीं सोची होगी. बल्लेबाजी में हुई खराब शुरुआत आखिर तक खराब ही रही. ऐसा लग रहा था जैसे पाकिस्तानी बल्लेबाज ट्वेंटी20 मैचों का वर्ल्ड कप खेलने के लिए आए हैं.

वेस्टइंडीज की सधी हुई गेंदबाजी के चलते पाकिस्तान की पूरी टीम 105 रनों पर सिमट गई. जबकि अभी तकरीबन 28 ओवरों का खेल बाकी था. बस 4 बल्लेबाज ही दहाई रनों का आंकड़ा पार कर पाए बाकी 7 बल्लेबाजों का मिलाजुला स्कोर 23 रन था.

ये भी पढ़ें- क्या बेन स्टोक्स बन पाएंगे 2011 के युवराज सिंह?

कप्तान सरफराज अहमद की टीम ने पूरे पाकिस्तानी दर्शकों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया. रही-सही कसर बाद में बल्लेबाजी करने आए वेस्टइंडीज के ओपनर बल्लेबाज क्रिस गेल ने पूरी कर दी. उन्होंने इस टूर्नामेंट में अपने पहले ही मैच में फिफ्टी लगा कर अपने इरादे जाहिर कर दिए. उन्होंने 6 चौकों और 3 छक्कों की मदद से महज 34 गेंदों पर 50 रन बटोरे और इस टीम ने 3 विकेट खो कर 14 से भी कम ओवर में जीत हासिल कर ली.

वेस्टइंडीज को आसानी से मिली इस जीत का फायदा आने वाले मैचों में मिल सकता है और वैसे भी उस के विस्फोटक बल्लेबाज आंद्रे रसल तो चाहते भी हैं कि उन की टीम अपनी बल्लेबाजी के दम पर इस वर्ल्ड कप को उठा कर चूम ले.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT