5 जून को भारत अपना पहला मुकाबला दक्षिण अफ्रीका के साथ खेलेगा पर वह दक्षिण अफ्रीका का तीसरा मैच होगा. आज तक कभी ऐसा नहीं हुआ कि इस देश ने वर्ल्ड कप में लगातार 3 मैच हारे हों, लेकिन अगर 5 जून को ऐसा हो गया तो नया रिकौर्ड बन जाएगा.

दक्षिण अफ्रीका की ऐसी पतली हालात की है जुझारू बंगलादेशी टीम ने. जब सोशल मीडिया पर 2 जून को ‘दो जून की रोटी कमाने’ का मजाक गरमी की हद तक यहांवहां बह रहा था तब इंगलैंड में चल वर्ल्ड कप में बंगलादेश ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ियों के माथे पर पसीना ला दिया था.

इंगलैड से अपना पहला मैच हार चुकी दक्षिण अफ्रीकी टीम को यह मैच जीतना जरूरी था ताकि हार के मलाल को कम किया जा सके, जबकि उस से बहुत कमजोर बांग्लादेशी टीम का यह पहला मैच था.

ओवल के मैदान पर पहले बल्लेबाजी करते हुए ‘बंगाली बाघों’ ने पिच और मौसम का मिजाज भांपते हुए सधी हुई शुरुआत की और उन का यह देखने लायक खेल पारी के अंत तक ऐसा ही चला. शाकिब अल हसन (75) और मुशफिकुर रहीम (78) की शानदार पारियों की मदद से बांग्लादेश ने 6 विकेट पर 330 रन बनाए. यह इस देश का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ और आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में बेस्ट स्कोर है.

शाकिब अल हसन और मुशफिकुर रहीम ने तीसरे विकेट के लिए 142 रन की भागीदारी की जो वर्ल्ड कप में उन की सर्वश्रेष्ठ साझेदारी भी है. इन दोनों बल्लेबाजों के अलावा सलामी बल्लेबाज सौम्य सरकार ने 42 और आखिर में महमूदुल्लाह रियाद ने नाबाद 46 रन का योगदान दिया.

ये भी पढ़ें- वर्ल्ड कप 2019: ये एशियाई टीमें भी हुईं ढेर

दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका की गेंदबाजी में वह धार नहीं दिखी जिस के लिए वह जानी जाती है. उस के सारे गेंदबाज लाइन और लेंथ से भटके दिखे. वे बांग्लादेश के बल्लेबाजों को लगातार रन बनाने से रोकने में नाकाम रहे. टीम के लिए एक बुरी खबर यह भी रही कि तेज गेंदबाज लुंगी निडी (4 ओवर में 34 रन) हैमस्ट्रिंग का इलाज कराते दिखे और इस के बाद गेंदबाजी के लिए दोबारा मैदान पर नहीं उतरे. दक्षिण अफ्रीका के लिए आदिले फेहलुकवायो, क्रिस मौरिस और इमरान ताहिर ने 2-2 विकेट लिए.

इंगलैंड के खिलाफ अपना पहला मैच खेलते हुए दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला को बल्लेबाजी करते हुए चोट लग गई थी जिस से वह इस मैच में खेल नहीं पाए थे. 331 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरे दक्षिण अफ्रीका को पहला झटका क्विंटन डि काक (23) के रूप में लगा जो रन आउट हुए. उस के बाद एडेन मार्करम (45) को शाकिब अल हसन ने बोल्ड कर दक्षिण अफ्रीका को दूसरा झटका दिया. कप्तान फाफ डु प्लेसिस कुछ देर टिके और उन्होंने 53 गेंदों पर 5 चौके और 1 छक्का जड़ा. उन्हें मेहदी हसन ने बोल्ड किया.

डेविड मिलर और वैन डेर ड्यूसेन ने कुछ उम्मीदें बांधी लेकिन दोनों एक के बाद एक आउट हुए जिस से दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 5 विकेट पर 228 रन हो गया. डेविड मिलर ने 38 और वैन डेर ड्यूसेन ने 41 रन का योगदान दिया. आखिरी उम्मीद जेपी डुमिनी ने 37 गेंदों पर 4 चौकों की मदद से 45 रन बनाए लेकिन उन के आउट होते ही दक्षिण अफ्रीका की हार पर मानो मोहर लग गई थी. लिहाजा, इस रोमांचक मैच में वह 21 रन से पिछड़ गया.

ये भी पढ़ें- क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019: पाकिस्तान की हुई करारी हार

 

Tags:
COMMENT