आज आधुनिक बाजार भी पुरुषवादी सोच को सिर्फ मदद तक ही सीमित कर रहे हैं. जैसे, टीवी प्रचार में अधिकतम ग्रौसरी सामानों को महिलाओं से ही लिंक किया जाता है जिस में महिलाएं जिम्मेदार की भूमिका में होती हैं और पुरुष उन के मददगार. राकेश और अनीता एकदूसरे से बेहद प्यार करते हैं. पिछले साल ही उन्होंने दिल्ली के राजा गार्डन स्थित जिला अदालत में शादी रचाई थी. ऐसा नहीं है कि उन्होंने यह शादी परिवार के खिलाफ जा कर की, बल्कि एसडीएम औफिस में शादी के समय दोनों के परिवार वाले उन्हें आशीर्वाद देने पहुंचे थे.

Tags:
COMMENT