किसी भी देश की राजधानी में बढ़ते अपराधों को कानून व्यवस्था का मामला बता कर टाला नहीं जा सकता. बढ़ रहे अपराध कानून व्यवस्था के साथसाथ देश के सामाजिक आर्थिक मनोविज्ञान को भी  उजागर करते हैं. दिल्ली में रोजाना लूटपाट, चोरी, छीनाझपटी, डकैती, लालच, बेईमानी से लोगों से पैसे ऐंठ लेने जैसी 8-10 घटनाएं आम हैं.

COMMENT