उत्तर प्रदेश सरकार जिस समय अपराध रोकने के आंकड़े जारी कर रही थी. ठीक उसी समय राजधानी लखनऊ से 40 किलोमीटर दूर लखनऊ-रायबरेली की सीमा पर स्थित दखिना शेषपुर टोल प्लाजा पर दिन दहाड़े नकाब पोश लोगों ने रायबरेली की विधायक अदिति सिंह की गाड़ी पर हमला किया.

जिला पंचायत सदस्य का अपहरण कर उसको अधमरा करके हरचंदपुर बाजार के पास फेंक दिया. इस घटना का सबसे बदनुमा पक्ष यह था कि पुलिस प्रशासन ने पूरी घटना को पहले एक दुर्घटना साबित करने की कोशिश की. टोल प्लाजा के सीसीटीवी फुटेज के सामने आने के बाद पुलिस के आला अफसर तेजी में आयेराय बरेली की घटना और कांग्रेस विधायक पर हमले के मामले में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के निंदा की. रायबरेली की विधायक अदिति सिंह ने कहा कि यह मेरे उपर हमला था.

Tags:
COMMENT