9 दिसंबर की रात को कई घंटे चली बहस के बाद सीएबी, नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में पास हो गया जिसके पक्ष में 311 वोट पड़े थें और विरोध में 80 वोट. अब इस बिल को बुधवार को राज्यसभा में पास किया जा सकता हैं, लेकिन इससे पहले ही इस बिल को लेकर कई जगह पर लोगों ने विरोध शुरू कर दिया है. इस बिल को लेकर संसद में हंगामा होना आम बात है लेकिन इस बिल के पास होने के बाद जगह-जगह कई शहरों में प्रदर्शन हो रहे हैं. कुछ लोग जश्न मना रहें हैं तो कुछ लोग इसका विरोध कर रहे हैं.असम, भापाल,कोलकाता, बिहार कई जगहों पर नागरिकता बिल को लेकर आगजनी,तोड़फोड़,पथराव और विरोध प्रदर्शन कर रहें हैं. गुवाहाटी, अगरतला समेत कई जगहों पर विरोध हो रहा है. लोकसभा में नागरिकता बिल पास होते ही ये विरोध शुरू होने लगा. जैसा की सभी जानते हैं कि असम में सबसे ज्यादा घुसपैठ होती है. इसके बावजूद भी वहां पर नागरिकता बिल के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है. इसे लोग संविधान के खिलाफ बता रहे हैं .इसको लेकर जंतर-मंतर पर जेडीयू कार्यालय में भी विरोध व तोड़फोड़ किया गया है. मुंबई में भी इस बिल के खिलाफ लोग प्रदर्शन कर रहे हैं.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT