दुनिया के लगभग सभी देशों में कोरोना की प्रतिछाया के दुष्परिणाम सामने हैं. आज दुनिया पर महामारी का प्रकोप है .कोरोना जिसका इलाज अभी वैज्ञानिकों के पास नहीं है,ऐसे में यह तो होना ही था की हमारी सरकार जनता कर्फ्यू, लाॅक डाउन और कर्फ्यू के रास्ते पर चल पड़े. मगर इस सब के बीच जो सार तथ्य निकलकर सामने आ रहे हैं उसके आधार पर यह कहना समीचीन होगा की जो अनुशासन, समझदारी और सौहार्द, मानवता दिखाई देना चाहिए वह समाज में दिखाई नहीं दे रही.

Tags:
COMMENT