उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा इस बात का प्रचार करती रही कि उसने एक भी मुस्लिम प्रत्याशी को विधानसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया है. इस प्रचार से सारे वोटर का धुव्रीकरण किया गया.

विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद अब भाजपा अपना मुस्लिम विरोधी चेहरा बदलना चाहती है. इसके लिये उसने मंत्रीमंडल में मोहसिन रजा को मंत्री के रूप में शामिल किया. यह बात और है कि मोहसिन रजा विधानसभा या विधान परिषद के सदस्य नहीं हैं. मंत्री बनने के 6 माह के अंदर मोहसिन रजा को विधान सभा या विधान परिषद का सदस्य बनाना जरूरी है.

COMMENT