बौलीवुड ऐक्टर वरुण धवन ने अपने अभिनय से चाहने वालों को निराश नहीं किया है. इन्होंने कई हिट फिल्में दी हैं. बावजूद इस के जो पहचान इन्हें मिलनी चाहिए वह अब तक नहीं मिल पाई है. वे इन दिनों हालिया रिलीज फिल्म ‘कलंक’ को ले कर चर्चा में हैं.

नए दौर के कलाकारों में अभिनेता वरुण धवन सब से अधिक प्रतिभावान माने जाते हैं. उन्होंने पढ़ाई पूरी करने के बाद निर्माता निर्देशक करण जौहर के साथ फिल्म ‘माय नेम इज खान’ में सहायक निर्देशक के रूप में काम किया. ऐक्टिंग कैरियर की शुरुआत उन्होंने फिल्म ‘स्टूडैंट औफ द ईयर’ से की, जिस में उन के काम को सराहना मिली और वे आगे बढ़े.

ये भी पढ़े- गरमियों के मौसम में बाहर के खाने से बचें…

हालांकि वरुण युवाओं में सब से अधिक पसंद किए जाने वाले कलाकार हैं लेकिन उन की फिल्में आजकल अधिक सफल नहीं हो पा रही हैं, जिस की वजह वे सही स्क्रिप्ट का न चुन पाना समझते हैं और कोशिश कर रहे हैं कि वे एक अच्छी और बेहतर फिल्म दर्शकों तक पहुंचा सकें. फिल्म ‘कलंक’ में अलग तरह की भूमिका निभा कर वे बहुत खुश हैं.

आजकल आप बहुत ही इंटैंस भूमिका निभा रहे हैं, हालांकि आप की फिल्म ‘अक्तूबर’ नहीं चली. ‘कलंक’ में खास क्या है, जिस से आप उत्साहित हुए? इस सवाल के जवाब में वरुण धवन कहते हैं, ‘‘कलंक फिल्म में मैं ने बहुत अलग काम किया है. इस जोनर में मैं ने कभी काम नहीं किया है. थिएटर करते वक्त मैं ने हमेशा ड्रामैटिक अभिनय किए हैं, जिसे करने का मौका अभी तक मुझे नहीं मिला था.

‘‘जब मैं ने ‘अक्टूबर’ जैसी फिल्म की थी, तो शुरू में ही पता लग गया था कि यह फिल्म कितनी चलेगी. जितनी भी चली, ठीक थी. मैं जब ‘कलंक’ जैसी फिल्में करता हूं तो सोचता हूं कि फिल्म में लगाए पैसे का लौस न हो. ऐक्ंिटग में प्रयोग करते रहना पसंद है.’’

ऐक्सपैरिमैंट से क्या आप को डर नहीं लगता? इस पर उन का कहना है, ‘‘हर कोई ऐक्सपैरिमैंट करता है. अमिताभ बच्चन आज भी ऐक्सपैरिमैंट करते हैं. इस के अलावा जो कहानी मुझे आकर्षित करे, उसे ही करना चाहता हूं. फिल्म ‘कलंक’ के साथ एक अलग जोनर मेरे लिए तैयार हो जाएगा. ऐक्सपैरिमैंट करने में डर होता है, लेकिन मुझे करते रहना चाहिए.’’

ये भी पढ़े- काम के बीच लें झपकी

इस में आप का एक अलग लुक है. जिस में आप ने मेहनत भी अधिक की है, कैसे की, यह आप के फैंस जानना चाहेंगे. इस पर वरुण कहते हैं, ‘‘इस में मुझे बालों पर बहुत काम करना पड़ा. इस में मैं ने बाल लंबे किए हैं. आंखों में सुरमा लगाया है, क्योेंकि मैं एक लुहार हूं. रियल लुक के लिए मैं ने सुरमा लगाया है.

‘‘इस में एक बुल फाइट पर भी सीन है, जिस के लिए मैं ने बौडी डबल नहीं लिया. इस फाइट सीन में मुझे काफी चोटें आई थीं. इतना ही नहीं, सैट पर जाने के बाद लगता था कि मैं एक अलग दुनिया में आ गया हूं. इस के अलावा, संवाद पर काफी काम करना पड़ा. यह फिल्म मुझे कंपलीट करती है, जो मुझे किसी फिल्म ने नहीं किया.’’

आप ने संजय दत्त के साथ काम किया है, कोई पुरानी बचपन की यादें, जिसे आप शेयर करना चाहें? इस पर वरुण कहते हैं, ‘‘बचपन के बहुत सारे यादगार पल हैं. मेरे पिता संजय दत्त की वजह से ही निर्देशक बने थे. उन की पहली फिल्म ‘ताकतवर’ थी, जिस में संजय दत्त और गोविंदा साथसाथ थे. हमारे साथ उन का एक अच्छा संबंध है, लेकिन फिल्म में अभिनय करते वक्त वे एक कलाकार के रूप में सामने आए, यह मुझे अच्छा लगा.’’

यूथ और बच्चों में आप का क्रेज बहुत है, सोशल मीडिया पर आप के फैनफौलोअर्स बहुत हैं, लेकिन आप की फिल्में उतनी नहीं आ रही हैं. इस की वजह क्या समझते हैं? इस पर उन का कहना है, ‘‘ऐसा इसलिए है कि लोग मुझे बच्चों की फिल्म में देखना चाहते हैं. लेकिन वैसी बहुत अच्छी कोई स्क्रिप्ट नहीं मिली है. अगर मिलेगी तो अवश्य करूंगा. मैं ने इसलिए यह फिल्म की है, ताकि लोगों के सामने मेरा दूसरा रूप आए. आगे मेरी कई फिल्में आ रही हैं.’’

ये भी पढ़े- 6 टिप्स: इन तरीको से रखे पेट दर्द को दूर…

आप की नजर में लव या रिलेशनशिप क्या है? इस पर अपना नजरिया पेश करते हुए वरुण कहते हैं, ‘‘प्यार एक अच्छा एहसास है, जिस में आप किसी के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार रहते हैं. कई बार इंसान बुरा नहीं होता, पर ऐसा कुछ हो जाता है कि फिर उस का गलत इस्तेमाल कर लिया जाता है. मैं ने रियल लाइफ में फिलहाल ऐसा अनुभव अभी तक नहीं किया है. आजकल लव ऐसा नहीं रहा, पर होना चाहिए.’’

आज के यूथ फिटनैस पर बहुत अधिक जोर देते हैं. कई बार उन्हें चोट भी लग जाती है. आप का सुझाव उन के लिए क्या है? गंभीर हो कर वरुण कहते हैं, ‘‘जब आप वर्कआउट करते हैं और उस दौरान अगर मसल्स में चोट आ जाती है, तो उसे रिकवरी के लिए रैस्ट देने की जरूरत होती है. चोट लगने के बाद भी अगर आप वर्कआउट करते हैं, तो मसल्स और अधिक डैमेज होती जाती हैं. इसलिए अपने शरीर को रिपेयर करने के लिए समय देना पड़ता है.

‘‘स्ट्रैचिंग और पानी पीना बहुत जरूरी है. स्टेरौयड कभी न लें. फूड में प्रोटीन नैचुरली लेने की जरूरत होती है. पूरे दिन में नियमित एक घंटा वर्कआउट करें.

‘‘मेरी बौडी अभी जो है वह डांसिंग की वजह से है. डांस से शरीर का हर भाग ऐक्टिव रहता है. अगर आप स्पोर्ट्स के साथ शरीर को हैल्दी बना सकते हैं, तो वह ज्यादा अच्छा है, क्योंकि इस से मैटाबोलिज्म हाई हो जाता है और आप फिट भी रह सकते हैं.’’

ये भी पढ़े- तनाव में हैं महिलाएं

आगे आप की कौनकौन सी फिल्में आने वाली हैं? इस सवाल पर वरुण ने बताया, ‘‘फिल्म ‘कुली नंबर वन’ का रीमेक अपने पिता के साथ कर रहा हूं. इस के अलावा फिल्म ‘स्ट्रीट डांसर थ्री डी’ और ‘रणभूमि’ बन रही हैं.’’

Tags:
COMMENT