विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक परेशान करने वाली रिपोर्ट ने हाल ही में यह नतीजा निकाला है कि भारत दुनिया का सब से अधिक अवसादग्रस्त देश है, जहां चिंता, सिजोफ्रेनिया और बाइपोलर डिस्और्डर के सब से अधिक मामले पाए गए. 2015-16 के राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण यानी एनएमएचएस के अनुसार, भारत के हर छठे व्यक्ति को मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों के लिए किसी न किसी तरह की मदद की जरूरत है.

Tags:
COMMENT