जी हां आज ये सवाल हर कोई पूछता है और खासतौर पर एक लड़की, जब उसे ये कहा जाता है कि अरे तुम एक लड़के से फोन पर बात कर रही हो,अरे तुम लड़के के साथ घूमने गयी थी, वो लड़का कौन था जो तुम्हें घर तक छोड़ने आया था,तुम्हारी फोटो में साथ में ये लड़का कौन है?

तमाम तरह के सवाल जब एक लड़की से पूछे जाते हैं तब वो सोचती है और सवाल करती है कि क्या एक लड़का और लड़की कभी अच्छे दोस्त नहीं हो सकते हैं? जरूरी है कि एक लड़की किसी लड़की को ही अपना दोस्त बनाए,लड़के को दोस्त बनाना क्या गुनाह है?

ये भी पढ़ें- दोस्ती जब वनसाइडेड लव बन जाए

लेकिन ये समाज इनका क्या करें जो जहां किसी लड़की या लड़के को साथ देखा नहीं कि शूरू हो जाते हैं जरूर इसका उस लड़के के साथ चक्कर चल रहा होगा देखो तो कैसे चिपक-चिपक कर बातें कर रहीं हैं और देर रात भी देखा था मैनें इसे इस लड़के के साथ न जाने कहां से घूम कर आ रही थी… और सबसे ज्यादा तो इस तरह की बातें अगल-बगल की औरतें करती हैं क्योंकि उनको तो मसाला ही चाहिए बातें करने के लिए अरे मैंने शर्मा जी की बेटी को कल एक लड़के के साथ देखा था,कुछ ज्यादा ही छूट दे रखी हैं शर्मा जी ने अपनी बेटी को… लो कर लो बात अब भला इन लोगों को कौन समझाए कि ये जरूरी नहीं कि अगर कोई लड़का–लड़की साथ हैं तो उनका चक्कर ही चल रहा होता है अरे वो एक अच्छे दोस्त भी हो सकते हैं.

अगर लड़के की बात करें तो हर लड़की की जिंदगी में एक लड़के का दोस्त होना बहुत जरूरी है क्योंकि अक्सर ऐसा होता है जब कुछ बातें हम अपनी दोस्तों से नहीं कह पाते लेकिन वही बात एक लड़का दोस्त है तो उससे कह देते हैं. और लड़को को भला लड़को से बेहतर कौन समझ सकता है उन्हें तो लड़कों के बारे में सब पता होता है और हमारा दोस्त हमें सलाह भी देता है. देखो इससे दूर रहना,इसके साथ मत जाना,ये लड़का अच्छा नहीं है…एक तरह से वो दोस्त होकर भाई वाले सारे फर्ज निभाता है.हमारा ध्यान रखता है,हर वक्त हमारी मदद करने के लिए तैयार रहता है. अगर घर आने में देरी होती है तो एक बॉडीगार्ड की तरह घर छोड़ने भी आएगा.आपको छेड़ेगा भी और आपसे लड़ेगा भी, गुस्सा भी होगा लेकिन कुछ ही पल में बात भी करने लगेगा क्योंकि बिना बात किए एक अच्छा दोस्त ज्यादा देर तक रह नहीं सकता..और तो और आपकी शादी में सबसे ज्यादा नाचेगा भी वही..

ये भी पढ़ें- बच्चों को किसी भी चीज का लालच देना हो सकता है खतरनाक

ऐसे दोस्त बहुत नसीब वालों को मिलतें है और बहुत मुश्किल से लेकिन ये समाज ऐसे पाक रिश्तों को भी नहीं छोड़ता है..अरे दोस्ती से अच्छा और सच्चा रिश्ता तो कहीं नहीं मिलता लेकिन ये समाज उसे भी गंदी नजरों से देखने से बाज़ नहीं आता. आप खुद सोचिए क्या एक लड़के का दोस्त होना इतना बड़ा पाप है या इतना बड़ी गलती है कि लड़की हर जगह सफाई देती फिरे. क्या ये समाज अपनी सोच को बदल नहीं सकता है.हम इक्कीसवीं सदी में हैं और समाज की सोच लेकिन अभी भी वही पुराने ज़माने में अटकी है.अपनी सोच को बदलें और इस बात को माने कि एक लड़का और लड़की बहुत अच्छे दोस्त भी हो सकते हैं और इस रिश्ते का सम्मान करें.

ये भी पढ़ें- जानें क्या है पौलीएमरस रिलेशनशिप ?

Tags:
COMMENT