छत्तीसगढ़ की सुनीता ने शायद ही कभी सोचा हो कि उस के जीवन में ऐसा कोई मोड़ आएगा जब वह अपने ही हाथों से अपने उसी प्रेमी का कत्ल करेगी जिस के साथ वह घर से भाग रही है. 13 साल की सुनीता ने प्रेमी राकेश के साथ घर छोड़ भागने का फैसला तो कर लिया था मगर उसे यह नहीं मालूम था कि यह कोई परियों की कहानी नहीं है जहां उस का राजकुमार उसे ढेरों खुशियां देगा और उस का जीवन सालों खुशी से बीतेगा.

Tags:
COMMENT