हाल ही में पब्लिक हैल्थ फाउंडेशन औफ इंडिया द्वारा किये गए एक अध्ययन के मुताबिक वयस्क भारतीयों में ज्यादा नमक खाने की आदत है, जो डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित मात्रा से ज्यादा है. अध्ययन में पाया गया कि दिल्ली और हरियाणा में नमक का सेवन प्रतिदिन 9.5 ग्राम और आंध्र प्रदेश में
प्रतिदिन 10.4 ग्राम किया जाता है. जब कि प्रत्येक व्यक्ति को एक दिन में अधिक से अधिक 5 ग्राम नमक का ही सेवन करना चाहिए. यानी  एक व्यक्ति लगभग दोगुना मात्रा में नमक का सेवन करता है  .

नमक ऐसा तत्व है जो शरीर को स्वस्थ और सक्रिय रखने के लिए आवश्यक है. यह खून  साफ करने और जीवाणुओं को मार कर बीमारियों से बचाने में भी मददगार है. नमकीन चीजें खाने का शौक सब को होता है. समस्या तब आती है जब हम जरूरत से ज्यादा मात्रा में नमक खाने लगते हैं. एक स्वस्थ वयस्क को 1 दिन में 2,300 मिलीग्राम से ज्यादा नमक नहीं लेना चाहिए.

ज्यादा नमक खाने की इच्छा के पीछे निम्न कारण हो सकते हैं ;

अधिक व्यायाम या परिश्रम

पसीने के साथ हमारे शरीर से सोडियम की भी काफी मात्रा निकल जाती है. ऐसे में हमें अधिक नमक खाने की जरूरत पड़ती है ताकि शरीर के सामान्य सीरम स्तर को संतुलित रखा जा सके. ज्यादा व्यायाम, लंबी दूरी दौड़ना या फिर मेहनत के दूसरे काम करने के बाद हमें ज्यादा नमक की तलब लग सकती है क्यों
कि इस से इलेक्ट्रोसाइट्स मुख्यतः ( पोटेशियम और सोडियम) का असंतुलन पैदा होता है. आप ऐसी स्थिति में इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक घर पर भी तैयार कर सकते हैं. लेमन ,लाइम जूस, जिंजर ,जरा सी साल्ट और एक चम्मच हनी का मिश्रण आप को इस समस्या से निजात दिला सकता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT