‘गोरी बनने के लिये 1 हजार की क्रीम लगा लोगी, पर जान बचाने के लिये 5 सौ रूपये का हेलमेट नहीं लगा सकती’

‘पुलिस की वर्दी पहनने वाले ही जब हेलमेट नहीं लगायेगे तो दूसरा कैसे लगायेगा.’

कुछ इस तरह के ताने देकर किन्नर लखनऊ में ट्रैफिक सिस्टम को सुधरने का प्रयास करेगे. शहरों में बढता यातायात तमाम तरह की परेशानियां खडा कर रहा है. दिल्ली सेलेकर लखनऊ तक यातायात, सडक सुरक्षा और प्रदूषण से निपटने के तमाम प्रयोग किये जा रहे है.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT