28 जनवरी 2016 बंगाल के बहुत खास दिन था. यह कामदुनी बलात्कार और हत्याकांड का अंतिम फैसला सुनाए जानेवाला दिन था. उत्तर 24 परगना के बारासात का कामदुनी इस बलात्कार और हत्याकांड के कारण पूरे देश भर में नामजद हो चुका है. पीडि़ता का परिवार अब कामदुनी नहीं रहता है. लेकिन इस दिन कामदुनी के कान खड़े थे. वैसे कामदुनी क्यों, पूरा बंगाल फैसले के इंतजार में रहा. बड़ी संख्या में लोगों का हुजूम अदालत पहुंचा. बाकी लोग टीवी पर नजर गड़ाए रहे. बहुसंख्यक लोग दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा सुनाए जाने के पक्ष में थे. इतनी बेकरारी के बाद भी इस दिन न्यायाधीश संचियता सरकार ने फैसला सुनाया.

7 जून 2013 की घटना थी. बारासात के कामदुनी में एक दोपहर को कॉलेज से परीक्षा देकर वह लौट रही थी. तभी कुछ लोगों ने उसका दिन-दहाड़े अपहरण किया और उसे एक वर्षों से बंद कारखाने में ले गए. बलात्कार के दौरान लड़की बेहोश हो गयी. बेहोशी में भी बलात्कार किया गया. होश में आने के बाद उसके साथ फिर बलात्कार किया गया. लड़की के गुप्तांग में दो गंभीर जख्म पाए गए थे. दरअसल, गैंगरेप के बाद सबूत मिटाने के लिए लड़की को दोनों पांव से चीर कर हत्या कर दी गयी थी. घटना के बाद पूरा बारासात तो उफनने लगा ही था. कोलकाता समेत पूरे प. बंगाल को इस घटना ने हिला दिया था. दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग को लेकर 2013 से लेकर 2016 को फैसला सुनाए जाने तक आंदोलन चलाया गया. गौरतलब है कि अमिर खान के सत्यमेव जयते में भी कामदुनी की घटना को शामिल किया गया था.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...