न्यू ईयर आते ही हम सब से पहले अपने रैजोल्यूशंस लेते हैं कि इस साल हम अच्छे से पढ़ाई करेंगे, अच्छे मार्क्स लाएंगे, किसी का दिल नहीं दुखाएंगे, कोई गलत काम नहीं करेंगे, पेरैंट्स की हर बात मानेंगे वगैरावगैरा. लेकिन कोई भी अपनी हैल्थ को ले कर रैजोल्यूशन नहीं लेता कि हम इस साल से अपनी हैल्थ को इग्नोर नहीं करेंगे जबकि सब से अहम हैल्थ ही है, क्योंकि अगर हमारी सेहत सही नहीं होगी तो न तो हम अच्छे से पढ़ाई पर फोकस कर पाएंगे और न ही किसी और चीज में अपनी पूर्ण भागीदारी दे पाएंगे. इसलिए इस बार हैल्थ रैजोल्यूशन ले कर साल की शुरुआत करें.

आप अपनी हैल्थ का ध्यान इस प्रकार रख सकते हैं :

1 ब्रेकफास्ट छोड़ने की न करें भूल

नेहा पर पतले होने का भूत सवार था, जिस कारण उस ने ब्रेकफास्ट करना छोड़ दिया. इस के बावजूद उस के वजन पर कोई असर नहीं पड़ा बल्कि वह खुद को शारीरिक व मानसिक रूप से बीमार महसूस करने लगी और एक दिन तो अधिक कमजोरी के कारण वह बेहोश हो कर गिर पड़ी.

ये भी पढ़ें- बच्चों में पोस्ट कोविड MIS-C को न करें नजर अंदाज

ऐसा सिर्फ नेहा के साथ ही नहीं बल्कि नेहा जैसे किसी अन्य किशोरकिशोरी के साथ भी हो सकता है. किशोरों को इस बात को समझना होगा कि बे्रकफास्ट स्किप करने से पतला होना तो दूर बिना ऊर्जा के आप किसी काम में ऐक्टिव भी नहीं रह पाएंगे.

कार्डिल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अभी हाल ही में हुए सर्वे द्वारा इसे साबित भी किया है कि जो किशोर बे्रकफास्ट कर के स्कूल जाते हैं उन की कार्यक्षमता व परीक्षाओं में उन का प्रदर्शन बेहतर होता है और वे ज्यादा मन लगा कर सीखने की कोशिश करते हैं इसलिए किशोरों को ब्रेकफास्ट छोड़ने की भूल नहीं करनी चाहिए. हां, नाश्ते में तले हुए स्नैक्स की जगह अंकुरित अनाज जैसे स्प्राउट्स आदि लें ताकि आप को ऐनर्जी भी मिले और आप की रोगप्रतिरोधक क्षमता भी बढ़े.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT