आजकल बच्चों में जंक फूड खाने की आदत बढ़ गई है, जिसके कारण बच्चें घर का खाना नही खाना चाहते. बच्चों में  बर्गर, फ्रेंच फ्राइज, चाउमीन, मोमोज जैसे जंक फूड खाने की आदत बहुत बढ़ गई है. इन सबसे बच्चों में दिन-प्रतिदिन मोटापा बढ़ता जा रहा है, इस बात से आप रूबरू होंगे ही. लेकिन हाल ही में हुई रिसर्च के मुताबिक जंक फूड ज्यादा खाने से बच्चों की याददाशत कमजोर होने का खतरा होता है. छोटी उम्र के बच्चे, जो स्कूल जाते हैं, उन बच्चों को मानसिक विकास तेजी से हो रहा होता है और जंक फूड की आदत ऐसे बच्चों को ज्यादा जल्दी लग जाती है. जिससे बच्चों का मानसिक विकास रूक सकता है साथ ही बच्चें का दिमाग कमजोर होने की संभावना भी होती है. आज हम आपको इस लेख में बताएंगे कि जंक फूड से होने वाले नुकसान और ये कैसे  स्वास्थय पर बुरा असर डालती है.

याददाशत कमजोर होना

रिसर्च के मुताबिक जो बच्चे सप्ताह में 3-4 बार जंक फूड खाते है उन बच्चों की याददाशात कमजोर होती है साथ ही सही तरीकें से मानसिक विकास भी नही हो पाता. जंक फूड स्वादिष्ट लगने की वजह से ये पेट तो भर देती है पर जो पोषक तत्व बच्चों को आहार में मिलना चाहिए वो नही मिलता. शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है कि खाने में विटामिन, प्रोटीन, मिनरल्स की मात्रा होनी जरूरी है. जंक फूड में ये सभी बिल्कुल नही पाई जाती, जिसके कारण मस्तिष्क का विकास सही तरीकें से नही हो पाता.

 ये भी पढ़ें- वजन कम करने के आसान टिप्स

छोटे बच्चों में मोटापे का कारण

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...