आज कोरोना वायरस की वजह से लोगों की जीवनशैली में काफी बदलाव आया है. हालात ये हैं कि कोरोना वायरस के संक्रमण के डर से लोग सुबह और शाम की सैर के लिए भी घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. ऐसे में मध्यम वर्ग के साथ अफसर, डाक्टर भी परंपरागत लोकमन, शरबती गेहूं की जगह काले गेहूं की रोटियां खाना पसंद कर रहे हैं.

बताया जाता है कि काले गेहूं की रोटियां सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं, इसलिए काले गेहूं की मांग बाजार में बढ़ने लगी है. किसान भी इस बढ़ती मांग का फायदा उठा कर काले गेहूं की खेती कर के मुनाफा उठा सकते हैं.वैसे तो खेती में नएनए प्रयोग करने वाले किसान काले गेहूं की फसल अपने खेतों में लेते आए हैं. नरसिंहपुर जिले के करताज गांव के किसान राकेश दुबे ने अपने कृषि फार्म पर इसी रबी मौसम में काले गेहूं की फसल तैयार की है.

ये भी पढ़ें- नवंबर महीने के खास काम

उन्नत खेती कर रहे किसान राकेश दुबे बताते हैं कि सामान्य गेहूं के मुकाबले काला गेहूं महंगा बिकता है और जैविक खेती से इस का उत्पादन भी ज्यादा मिलता है. एक एकड़ खेत में 50 किलोग्राम बीज, गोबर की खाद, कृषि यंत्रों और मजदूरी मिला कर 18,000 से 20,000 रुपए का खर्चा आता है.काला गेहूं बाजार में 8,000 हजार से 10,000 रुपए क्विंटल तक बिकता है. उत्पादन भी एक एकड़ में 14 से 16 क्विंटल तक मिल जाता है. किसानों के बीज भी तैयार कर रहे हैं.

मध्य प्रदेश की गाडरवारा तहसील के रंपुरा गांव के किसान नरेंद्र चौधरी 2 साल से काले गेहूं की खेती कर रहे हैं. इस बार 2 एकड़ खेत में इस को लगाया था, जिस में 32 क्टिंवल काले गेहूं का उत्पादन किया है.
नरेंद्र चौधरी जैविक तरीके से खेती करते हैं, इसलिए इस गेहूं की डिमांड भोपाल में सब से ज्यादा होती है. वे कहते हैं कि लौकडाउन में इस बार गेहूं की मांग ज्यादा रही है और उन का गेहूं घर से ही लोग खरीद कर ले गए. वे कहते हैं कि परंपरागत खेती घाटे का सौदा हो गई है. जैविक तरीके से की गई खेती में लागत कम मुनाफा ज्यादा मिलता है.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...