रेटिंग : ढाई स्टार

निर्माता : मनीष मुंद्रा, गौरव वर्मा और गौरी खान

निर्देशक : हार्दिक मेहता

कलाकार : संजय मिश्रा, दीपक डोबरियाल, सारिका सिंह, ईशा तलवार, अवतार गिल, बीरबल, लिलिपुट, मनमौजी व अन्य

अवधि : दो घंटे

सिनेमा में आाए बदलाव के बावजूद बौलीवुड में आज भी हीरो, हीरोइन और विलेन की कल्पना ही मायने रखती है. बौलीवुड में हर सुविधा इन्हे ही मिलती है, जबकि बौलीवुड में चरित्र कलाकार उसी तरह से उपयोगी और आवश्यक हैं, जिस तरह से हर सब्जी में आलू उपयोगी होता है. बौलीवुड फिल्मों की कहानियां चरित्र या सह चरित्र कलाकारों के बिना आगे नही बढ़ सकती. मगर सैकड़ों फिल्में करने के बाद भी चरित्र कलाकारों को मान सम्मान नहीं मिलता. फिल्मकार हार्दिक मेहता ऐसे ही कलाकार की कहानी और उनकी त्रासदी को पेश करने वाली फिल्म ‘‘कामयाब’’ लेकर आए हैं.

Tags:
COMMENT