कनाडा की एक अमीर महिला आला वैगनर मिलरविले, अलबेर्टा के 5000 वर्गफुट के मकान में रहती है. उस के घर की कीमत साढ़े 3 करोड़ है. पिछले साल इस वृद्ध महिला की कमर में चोट लग गई. हालात ये बने कि वह अपने घर की सीढि़यां नहीं चढ़ सकती थी. आला वैगनर की नर्स ने सुझाव दिया कि वह अपने घर में अपनी जरूरत के हिसाब से बदलाव करा ले. लेकिन वह अपने प्रिय घर के स्ट्रक्चर में बदलाव को तैयार नहीं हुई.

वैगनर ने कहा मैं इस घर को एक आर्टवर्क की तरह देखती हूं और कोई भी बदलाव इस घर की कीमत और यहां मौजूद हस्तशिल्प को कमजोर ही करेगा. वैगनर ने कई महीनों तक घर को बेचने की कोशिश की लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ.

फिर एक दिन वैगनर के दिमाग में एक विचार आया. उस ने एक कौंटेस्ट ‘राइट ए लेटर, विन ए हाउस’ की शुरुआत करने की सोची. उस ने लोगों से कहा कि वह पत्र लिख कर बताएं कि वे अपने घर में क्यों रहना चाहते हैं.

ये भी पढ़ें- नए जमाने के नए किसान 

वैगनर ने अपने घर की कीमत निकालने के लिए हर आवेदन पर 25 डौलर की फीस भी रख दी. अब तक वैगनर के पास 68 हजार आवेदन आ चुके हैं. यानी भारतीय मुद्रा में 46 लाख 24 हजार रुपए वैगनर के खाते में आ चुके हैं.

अगर अगले कुछ महीनों में वैगनर को आवेदनों से अपने घर की कीमत न मिली तो वह सभी आवेदकों को उन के पैसे लौटा देंगी. अगर यह प्रतियोगिता सफल रहती है तो वह मिलने वाली राशि का 5 प्रतिशत महिला आश्रम के लिए देगी. हालांकि उस ने इन पत्रों की समीक्षा शुरू कर दी है. वह घर के बारे में लोगों के विचार जान कर द्रवित हैं. उस का कहना है कि वह चाहती हैं कि इस घर में कोई परिवार उसी तरह हंसीखुशी रहे, जैसे मैं रही हूं. मुझे विश्वास है कि इस कौंटेस्ट का परिणाम बहुत सुखद होगा.

ये भी पढ़ें- 48 साल बाद मिले एमी बैटल के भाई-बहन

Tags:
COMMENT