भारतीय जूनियर निशानेबाजों का आइआइएसएफ चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा. 17 वर्ष के एक और उभरते हुए निशानेबाज हृदय हजारिका ने पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल जूनियर स्पर्धा में देश के लिए स्वर्ण पदक जीता.

इसके अलावा जूनियर भारतीय महिलाओं की टीम ने भी नए विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया, जबकि सीनियर महिला 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में भारत की इलावेनिल वालारिवन ने भी रजत पदक जीता. इलावेनिल ने 249.8 का स्कोर किया, जबकि स्वर्ण जीतने वाली चीन की शी मेनग्याओ ने 250.5 का स्कोर किया. भारत की एक अन्य निशानेबाज श्रेया अग्रवाल ने 228.4 के स्कोर के साथ कांस्य पदक हासिल किया. चार खिलाड़ियों के शुक्रवार को पोडियम तक पहुंचने से भारत के इस चैंपियनशिप में कुल 18 पदक हो गए हैं. यह इस चैंपियनशिप में भारत का सबसे बेहतर प्रदर्शन है. इससे पहले भारत का छह पदक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था, जो उन्होंने क्रोएशिया के जगरेब में आयोजित चैंपियनशिप में किया था.

हजारिका अपनी स्पर्धा में फाइनल में पहुंचने वाले अकेले भारतीय रहे. फाइनल में हजारिका और ईरान के मुहम्मद आमिर के बीच 250.1 के स्कोर पर टाई हो गया, जिसके बाद नतीजा शूट ऑफ से निकाला गया. यहां हजारिका ने बाजी मारते हुए स्वर्ण जीता. इस स्पर्धा का कांस्य पदक रूस के ग्रिगोरी शमाकोव ने जीता. हजारिका ने 22वें शॉट तक आमिर पर बढ़त बनाए रखी, लेकिन 23वां शॉट हजारिका 9.4 का लगा बैठे, जिसके बाद 24वें शॉट के खत्म होने तक दोनों का स्कोर 250.1 हो गया. शूटऑफ के आखिरी शॉट में हजारिका ने 10.3 का शॉट लगाया, जबकि ईरानी निशानेबाज 10.2 का शॉट रहा.

महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल जूनियर टीम स्पर्धा में इलावेनिल, श्रेया और मनिनी कौशिक ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 1880.7 के विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण जीता. इलावेनिल ने अकेले 631 का स्कोर किया, यह भी नया जूनियर विश्व रिकॉर्ड है. पुरुषों की 10मीटर एयर राइफल जूनियर टीम स्पर्धा में हजारिका, दिव्यांश पंवार और अजरुन बबुता 1872.3 का स्कोर करके चौथे स्थान पर रहे.

सीनियरों ने किया निराश

पुरुषों की 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन में भारतीय निशानेबाजों ने निराश किया, जहां कोई भी निशानेबाज फाइनल में जगह नहीं बना सका. एशियन गेम्स के रजत पदक विजेता संजीव राजपूत ने 1158 के स्कोर के साथ सबसे निचला 58वां स्थान प्राप्त किया.

COMMENT