सरिता विशेष

भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री का मानना है कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अभी भी अपने से 10 साल जूनियर खिलाड़ियों से अधिक फिट और चुस्त हैं, इसलिए माही वनडे टीम के लिए बेहद ही जरूरी खिलाड़ी हैं. बता दें कि पिछले कुछ अर्से में धोनी की बतौर बल्लेबाज काफी आलोचना हुई है इसपर मुख्य चयनकर्ता एमएके प्रसाद ने साफ तौर पर कहा कि युवा खिलाड़ियों में कोई भी उनके समकक्ष नहीं है. अब शास्त्री ने भी उनका समर्थन किया है.

dhoni

रवि शास्त्री ने कहा कि धोनी में खामियां तलाशने की बजाय उनके आलोचकों को अपने करियर का विश्लेषण करना चाहिए. मैं पिछले 30 – 40 साल से यह खेल देख रहा हूं. हमें पता है कि इस उम्र में भी धोनी 26 साल के खिलाड़ियों पर भारी है. हम मूर्ख नहीं हैं, जो धोनी को टीम में रखना चाहते हैं. विकेट के पीछे धोनी की मुस्तैदी का आज भी जवाब नहीं है.

sports

उन्होंने आगे कहा कि जो लोग आलोचना कर रहे हैं, वे भूल गए हैं कि उन्होंने भी क्रिकेट खेला है. यदि वे खुद को आइने में देखें और सवाल करें कि वे 36 बरस की उम्र में क्या थे. जब तक वे दो रन लेते थे. अभी तक वनडे टीम में उनकी जगह लेने लायक कोई विकेटकीपर नहीं है. धोनी तीन रन भाग लेते हैं. उन्होंने दो विश्व कप जीते और 51 की औसत से रन भी बनाए.

sports

शास्त्री ने कहा कि धोनी का विकल्प तलाशना आसान नहीं है. वह भारत में ही नहीं , दुनिया में सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपरों में से एक हैं. उनके पास ऐसे गुण है जो बाजार में नहीं मिलते.