टीम इंडिया के आलराउंडर रविचंद्रन अश्विन ने बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में ‘यो-यो’ फिटनेस टेस्ट पास कर लिया है. अश्विन ने इंग्लैंड में वास्टरशयर की तरफ से काउंटी क्रिकेट खेलकर लौटने के बाद तमिलनाडु की तरफ से आंध्रा के खिलाफ सत्र 2017-18 का पहला रणजी ट्राफी मैच खेला और ‘यो यो टेस्ट’ को पास कर लिया.

मैच के बाद उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि बैंगलोर का सफर अच्छा रहा. ‘यो यो टेस्ट’ भी सफल रहा. अब रणजी ट्राफी के लिए दोबारा से तमिलनाडु टीम की तरफ से खेलने जा रहा हूं.

बता दें कि कुछ समय पहले अश्विन ने कहा था कि वह ‘यो-यो’ टेस्ट के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं मानकों को मानने वाला इंसान हूं. अगर कोई नया मानक बना है तो मैं उसे पाने की पूरी कोशिश करूंगा. मैं किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हूं. हर टीम को बेस्ट बनाने के लिए नए तरीके इस्तेमाल किये जाते हैं, जिसका मैं इसका सम्मान करता हूं. अगर हमें विश्व में सबसे बेहतरीन बनना है, तो इस तरह के टेस्ट का सामना करना होगा.

31 वर्षीय अश्विन को आस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज और टी20 सीरीज के लिए आराम दिया गया था लेकिन ‘यो यो टेस्ट’ पास करने के बाद अब उम्मीदें जताई जाने लगी है कि वह न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले वनडे और टी2 सीरीज में वापसी करेंगे लेकिन उससे अश्विन 14 अक्तूबर से त्रिपुरा के खिलाफ ग्रुप सी के रणजी मैच के लिये टीम का हिस्सा होंगे. मालूम हो कि यो यो टेस्ट उस समय सुर्खियों में आया था जब युवराज सिंह और सुरेश रैना कथित तौर पर इसे पूरा करने में नाकाम रहे थे.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं