मुंबई पहुंचते ही बौलीवुड अदाकारा प्रियंका चोपड़ा ने इशारा कर दिया कि वे तीन बौलीवुड फिल्में अनुबंधित करने वाली हैं, जिनमें से एक बौलीवुड फिल्म अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला की बायोपिक फिल्म है, जिसका निर्देशन प्रिया मिश्रा करने वाली हैं. पर अब सवाल यह उठ खड़ा हुआ है कि कल्पना चावला की बायोपिक फिल्म कौन बना सकता है? क्योंकि एक वेबसाइट के अनुसार कल्पना चावला की बायोपिक फिल्म बनाने के अधिकार दो फिल्मकारों के पास है, जबकि सूत्रों के अनुसार इन दो के अलावा भी साल 2015 में ‘वायकाम 18’ भी इस पर फिल्म बनाने की बात कर चुका है.

एक तरफ प्रिया मिश्रा दावा कर रही हैं कि कल्पना चावला की बायोपिक फिल्म बनाने के अधिकार उनके पास हैं. प्रिया मिश्रा का दावा है कि वे 2010 से कल्पना चावला के पिता बी.एल. चावला के संपर्क में हैं और उनके पास पिछले सात वर्षों से इस फिल्म को बनाने के अधिकार हैं. प्रिया मिश्रा का दावा है कि वे पहली बार बी एल चावला से 2010 में करनाल, हरियाणा में मिली थीं, तब से वह कई बार मिल चुकी हैं. उनका दावा है कि वे कल्पना चावला की मां और बहनों से भी मिली हैं. प्रिया मिश्रा के अनुसार उन्होंने बी एल चावला से पहली मुलाकात में ही फिल्म बनाने के लिए अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर नहीं करवाए थे, बल्कि पहले उन्होंने उनसे रिश्ता जोड़ा और कई मुलाकातों के बाद अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर करवाए थे.

प्रिया मिश्रा दावा कर रही हैं कि वे पिछले माह भी बी एल चावला से दिल्ली में मिलीं थी. उन्हें बी एल चावला हर जानकारी देते रहते हैं, जैसे कि अभी पिछले सप्ताह वे ‘कल्पना चावला विश्वविद्यालय’ के उद्घाटन के सिलसिले में करनाल गए थे. प्रिया मिश्रा का दावा है कि वे स्वयं इस फिल्म की लेखक,निर्माता व निर्देशक हैं.

वहीं दूसरी तरफ ‘‘क्लाउड नाइन पिक्चर्स प्रा. लिमिटेड’’ की सीईओ मीनू अरोड़ा का दावा है कि कल्पना चावला की बायोपिक फिल्म बनाने का अधिकार उनकी कंपनी के पास है. मीनू अरोड़ा का दावा है कि उन्होंने अपनी भागीदार सविता हिरेमथ के साथ कल्पना चावला के पिता बी एल चावला से मुलाकात की थी और उनसे फिल्म बनाने के अधिकार हासिल कर, एक अग्रीमेंट साइन करवाया था.

ज्ञातब्य है कि सविता हिरेपथ कई साल पहले फिल्म ‘‘खोसला का घोसला’’ का निर्माण कर चुकी हैं. मीनू अरोड़ा व सविता हिरेमथ अपना पक्ष मजबूत करते हुए दावा करती हैं कि उन्होंने पेंग्विन से उनके द्वारा प्रकाशित अनिल पद्मानाभन की किताब ‘‘कल्पना चावला : लाइफ’’ पर फिल्म बनाने के अधिकार ले रखे हैं. उनकी फिल्म इस किताब पर आधारित होगी. इनका दावा है कि इन्हें कल्पना चावला के पिता बी एल चावला के अलावा परिवार के अन्य सदस्यों से भी कल्पना चावला से जुड़ी कई बातों की जानकारी मिली है, जिसके चलते इनकी फिल्म बहुत खास हो जाती है. मगर मीनू अरोड़ा या सविता हिरेमथ यह नहीं बता पा रही हैं कि उनकी फिल्म का निर्देशन कौन करेगा?

अब यह देखना दिलचस्प होगा कि अंततः कल्पना चावला की बायोपिक फिल्म का निर्माण कौन करता है? ‘‘वायकाम 18’’ स्टूडियो इन दोनो में से किसी के साथ जुड़ता है या नहीं…