सरिता विशेष

वक्त के साथ रिश्ते भी बदल जाते हैं. करण जोहर और काजोल की दोस्ती 25 साल तक चलती रही. पर अब दोनों एक दूसरे के लिए अजनबी बन चुके हैं. करण जोहर  बतौर सहायक निर्देशक फिल्म ‘‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’’ से जुड़े हुए थे, जिसमें शाहरुख खान व काजोल ने अभिनय किया था. इस फिल्म के बाद काजोल ने करण जोहर की कंपनी ‘‘धर्मा प्रोडक्शन’’ के लिए ‘कभी खुशी कभी गम’, ‘माई नेम इज खान’, ‘कभी अलविदा न कहना’ व‘स्टूडेंट आफ द ईयर’ सहित कई फिल्में की. काजोल व करण जोहर के बीच ऐसी दोस्ती रही है कि काजोल अक्सर उनके आफिस पहुंच जाया करती थीं. लेकिन अब उनकी दोस्ती नहीं रही. यह खुलासा एक वेब साइट पर करण जोहर की बायोग्राफी के कुछ पन्नों के उजागर होने से हुआ है.

अपनी बायोग्राफी ‘‘ऐन अनसुटेबल ब्वाय’’ में इस बात का खुलासा खुद करण जोहर ने किया है. करण जोहर ने इस बायोग्राफी में लिखा है-‘‘काजोल से मेरे कोई रिश्ते नहीं हैं. हमारे बीच दूरियां बढ़ चुकी हैं. कुछ ऐसा हुआ है, जिसकी मैं यहां चर्चा नहीं करना चाहता. क्योंकि वह मेरे या उनके, दोनों के लिए अच्छा नहीं होगा. 25 साल की दोस्ती के बाद अब हालात यह हैं कि मैं और काजोल बात भी नहीं करते. हम सामने आने पर ‘हैलो’ कहकर आगे बढ़ जाते हैं. मेरे व उनके बीच कभी कोई समस्या नहीं रही. समस्या मेरे व उनके पति अजय देवगन के बीच है. यह कुछ ऐसा मसला है, जिसे वह जानती हैं और मैं जानता हूं. मैं इसे फैलाना नहीं चाहता. पर मैं यह भी चाहता हूं कि जो उन्होंने नहीं किया है, उसके लिए उन्हे माफी मांगनी चाहिए. मुझे लगा कि यदि वह 25 साल की दोसती को नजरंदाज कर अपने पति का साथ देना चाहती हैं, तो यह उनका अपना विशेषाधिकार है. मैं इस बात को समझता हूं. पर मै खुद को उनकी जिंदगी में कहीं नहीं पाता. कई माह हो गए, हमारे बीच बात नहीं हुई….’’

करण जोहर ने आगे लिखा है- ‘‘फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ के प्रदर्शन से पहले मेरे खिलाफ बहुत कुछ कहा गया. कहा गया कि मैं उनके पति की फिल्म ‘शिवाय’ को बर्बाद करने पर लगा हूं. पर मैं चुप रहा. मैंने यह भी नहीं कहा कि इससे मुझे तकलीफ हुई. पर जब काजोल ने इस प्रकरण पर ट्वीट किया- ‘शॉक्ड’, तो मुझे लगा कि सब कुछ खत्म हो गया. उसने इस ट्वीट से यह जाहिर कर दिया कि उसे लगता है कि मैं किसी को घूस दे सकता हूं. उसके बाद मैने अपनी मां से कह दिया कि वह काजोल से अपना रिश्ता रखना चाहती हैं या काजोल उनसे रखना चाहती हैं, तो मुझे कोई एतराज नहीं, पर मेरे लिए काजोल से दोस्ती अतीत हो गया. कितनी अजीब बात है कि 25 वर्ष तक उसको लेकर मेरी जो भावनाएं थी, उसके उसने टुकडे टुकडे कर दिए….’’

करण ने आगे लिखा है-‘‘मैं उनके पति को लेकर कुछ नहीं कहना चाहता. क्योंकि वह मेरी जिंदगी में कोई अहमियत नहीं रखते. कभी नहीं रखते थे. मैं अपने इतिहास और काजोल के साथ अतीत में रहे रिश्तों की कद्र करते हुए आज भी उनके पति को लेकर कुछ नहीं कहना चाहता…..मेरे कुछ करीबी आज भी काजोल से जुड़े हुए हैं. निजी स्तर पर मैं ऐसा नहीं चाहता. पर मैं उन्हें मना भी नही कर सकता. पर जब वह मेरे सामने काजोल की बात करते हैं, तो मुझे गुस्सा आता है.’’

यानी कि करण जोहर ने अपने अंदर का दर्द और गुस्सा बयां किया है. अपनी भावनाओं को उजागर किया है.

तो क्या अब करण जोहर ने सलमान खान व अक्षय कुमार के के साथ हाथ मिलाते हुए अपरोक्ष रूप से अजय देवगन के खिलाफ मोर्चा खोला है, वह उनके गुस्से की वजह से है. क्योंकि बौलीवुड में चर्चाएं हैं कि अजय देवगन सारागढ़ी पर फिल्म बना रहे हैं, जिसे मात देने के लिए करण जोहर, सलमान खान के साथ मिलकर सारागढ़ी पर ही फिल्म बना रहे हैं, जिसमें अक्षय कुमार सरदार की भूमिका में रहेंगे.

करण जोहर की बायोग्राफी बीस जनवरी को बाजार में आनी है. हर किसी की नजर उस पर है. देखना है कि तब क्या क्या सामने आता है.